माइक्रोसॉफ्ट ने खरीदी LinkedIn, 1.76 लाख करोड़ रु. में की अपनी सबसे बड़ी डील

    0
    16

    दिल्‍ली. माइक्रोसॉफ्ट ने दुनि‍या की बड़ी प्रोफेशनल नेटवर्किंग साइट लिंक्‍डि‍न कॉर्प को खरीद लि‍या है। माइक्रोसॉफ्ट ने यह डील 2,620 करोड़ डॉलर (करीब 1.76 लाख करोड़ रुपए) में की है। यह कंपनी की अब तक की सबसे बड़ी डील मानी जा रही है। ये दोनों कंपनि‍यां मि‍लकर प्रोफेशनल्स के लि‍ए दुनि‍या का सबसे बड़ा ऑनलाइन नेटवर्क बनाएंगी। क्यों है बड़ी डील और कैसे होगा पेमेंट…

    – लिंक्‍डि‍न ने सोमवार को जारी बयान में बताया कि दोनों कंपनियों के बीच हुए सौदे के तहत माइक्रोसॉफ्ट 49.5 फीसदी के प्रीमि‍यम पर शु्क्रवार को बंद भाव 196 डॉलर प्रति शेयर के हिसाब से लिंक्‍डि‍न को ऑल इन कैश ट्रांजैक्‍शन पेमेंट करेगी।
    – डील की प्रोसेस इस साल पूरी हो सकती है।
    – लिंक्‍डि‍‍न और माइक्रोसॉफ्ट, दोनों के बोर्ड से डील को मंजूरी मि‍ल गई है।

    डील से जुड़ी अहम बातें

    – जेफ विनर लिंक्‍डि‍‍न के सीईओ बने रहेंगे और वे माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्या नडेला को रिपोर्ट करेंगे।
    – दोनों की ओर से जारी ज्वाइंट स्टेटमेंट में कहा गया कि‍ लिंक्‍डि‍न अपने ब्रांड, कल्‍चर और इंडि‍पेंडेंस को बरकरार रखेगी।

    लिंकडिन के चीफ एक्‍जीक्‍यूटिव ऑफि‍सर (सीईओ) बने रहेंगे और वह माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्या नडेला को रिपोर्ट करेंगे। जेफ विनर लिंकडिन के चीफ एक्‍जीक्‍यूटिव ऑफि‍सर (सीईओ) बने रहेंगे और वह माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्या नडेला को रिपोर्ट करेंगे।
    जेफ विनर लिंकडिन के चीफ एक्‍जीक्‍यूटिव ऑफि‍सर (सीईओ) बने रहेंगे और वह माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्या नडेला को रिपोर्ट करेंगे।
    नई दि‍ल्‍ली. माइक्रोसॉफ्ट ने दुनि‍या की बड़ी प्रोफेशनल नेटवर्किंग साइट लिंक्‍डि‍न कॉर्प को खरीद लि‍या है। माइक्रोसॉफ्ट ने यह डील 2,620 करोड़ डॉलर (करीब 1.76 लाख करोड़ रुपए) में की है। यह कंपनी की अब तक की सबसे बड़ी डील मानी जा रही है। ये दोनों कंपनि‍यां मि‍लकर प्रोफेशनल्स के लि‍ए दुनि‍या का सबसे बड़ा ऑनलाइन नेटवर्क बनाएंगी। क्यों है बड़ी डील और कैसे होगा पेमेंट…

    – लिंक्‍डि‍न ने सोमवार को जारी बयान में बताया कि दोनों कंपनियों के बीच हुए सौदे के तहत माइक्रोसॉफ्ट 49.5 फीसदी के प्रीमि‍यम पर शु्क्रवार को बंद भाव 196 डॉलर प्रति शेयर के हिसाब से लिंक्‍डि‍न को ऑल इन कैश ट्रांजैक्‍शन पेमेंट करेगी।
    – डील की प्रोसेस इस साल पूरी हो सकती है।
    – लिंक्‍डि‍‍न और माइक्रोसॉफ्ट, दोनों के बोर्ड से डील को मंजूरी मि‍ल गई है।

    डील से जुड़ी अहम बातें

    – जेफ विनर लिंक्‍डि‍‍न के सीईओ बने रहेंगे और वे माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्या नडेला को रिपोर्ट करेंगे।
    – दोनों की ओर से जारी ज्वाइंट स्टेटमेंट में कहा गया कि‍ लिंक्‍डि‍न अपने ब्रांड, कल्‍चर और इंडि‍पेंडेंस को बरकरार रखेगी।

    कैसे हुई डील?

    – यह सीईओ के तौर पर नडेला की लीडरशिप में हुई सबसे बड़ी डील है।
    – माइक्रोसॉफ्ट के फाइनेंशि‍यल एडवाइजर के तौर पर मोर्गन स्‍टैनली को अप्वाइंट कि‍या गया है।
    – वहीं, लिंक्‍डि‍न को फाइनेंशि‍यल एडवाइजर के तौर पर कतरलि‍स्‍ट पार्टनर्स एंड एलेन एंड कंपनी एलएलसी को अप्वाइंट कि‍या गया है।
    – साल 2011 के लिंक्‍डि‍न के पब्लि‍क लि‍स्‍टिंग से पहले माइक्रोसॉफ्ट ने लिंक्‍डि‍न को खरीदने के लि‍ए कई बार बात की थी।

    – यह सीईओ के तौर पर नडेला की लीडरशिप में हुई सबसे बड़ी डील है।
    – माइक्रोसॉफ्ट के फाइनेंशि‍यल एडवाइजर के तौर पर मोर्गन स्‍टैनली को अप्वाइंट कि‍या गया है।
    – वहीं, लिंक्‍डि‍न को फाइनेंशि‍यल एडवाइजर के तौर पर कतरलि‍स्‍ट पार्टनर्स एंड एलेन एंड कंपनी एलएलसी को अप्वाइंट कि‍या गया है।
    – साल 2011 के लिंक्‍डि‍न के पब्लि‍क लि‍स्‍टिंग से पहले माइक्रोसॉफ्ट ने लिंक्‍डि‍न को खरीदने के लि‍ए कई बार बात की थी।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here