पुलिस बड़े नेताओ के इशारे पर दशहरा न मनाने के लिए कर रही है तंग – राणा

    0
    26
    शिवसेना बालठाकरे ने प्रेस वार्ता मे रणजीत राणा ने पत्रकार बन्धुओ को बताया के पिछले पांच साल से  शिवसेना ने समाजिक और धार्मिक संगठनों को साथ लेके होशियारपुर मे दशहरा करवाना शुरू किया पहले दिन से ही पुरानी दशहरा कमेटी जो भाजपा के कब्जे वाली दशहरा कमेटी है ने रणजीत राणा व् उनके साथी शिवसैनिको पर जुल्म ढाने शुरू कर दिए और कई झूठे मुक़दमे शिवसेना नेताओ पर दर्ज किये। इस बार भी इन लोगो ने अपने पार्षद मलकीत सिंह से जो की पुलिस विभाग से डी एस पी रिटाइर्ड है से झूठे मुकद्दमे  दर्ज करा कर शिवसेना  को बदनाम किया पिछले चार माह से थाना सदर का एस.एच्.ओ राजेश अरोड़ा और डी. ऐस. पी  समीर वर्मा  ने हमे दशहरा न मानाने के लिए मुक्कदमों की आड़ मैं ब्लैकमेल करना शुरू  कर दिया था यहाँ तक की मेरी हत्या करवाने का इशारा तक कर दिया था उसके बारे मैं मैंने और जावेद खान ने सदर थाने के साहमने सिर्फ दो व्यक्तियों ने धरना दे कर पंजाब सरकार का ध्यान और जनता को बताना चाहा था परंतु मीडिया के जाने के बाद डी. एस. पी ने बौखलाहट मैं सिटी एस. एच. ओ  और सदर एस. एच. ओ   ने मिल कर हमे धरने से उठाया और तीन तीन सौ चार चार सौ फुट दूर खड़े  रिटायर्ड  डी. एस. पी की तरफ से लिखाये कांग्रेस के पूर्व पार्षद हरभजन कौर और उनके पति एवम बेटे को भी इन्हों ने पकड़ कर एक और नया मुक्कादमा 107/151 जबरदस्ती डाल दिया और थाने के अंदर ले जा कर मेरे और जावेद खान को दशहरा न मानाने के लिए धमकाया डराया , न मानाने पर मंजीत कौर और हमारे साथ बुरा सलूक किया और हमारे साथ पाकिस्तानी आंतकवादियों की तरह व्यहवार करते हुए हमे भरी पुलिस फाॅर्स के साथ पकड़ कर रात 11 बजे थाना टांडा के लिए मिनी बस मैं रवाना कर दिया गया और किसी अज्ञात जगह पर मिनी बस को रोका गया और वहां सिटी एस. एच. ओ अमरनाथ और सदर एस. एच. ओ राजेश अरोड़ा और डी. एस. पी समीर वर्मा और एस. आई लाल सिंह  ने कहा की हमें तीक्ष्ण सूद और मेयर शिव सूद के आदेश हैं  की तुम्हें कोई न कोई बहाना बना कर एनकाउंटर कर दे इसलिए तुम लोग अगर ज़िंदा रहना चाहते हो तो दशहरा मनाना बंद कर दो और उस वक़्त इन लोगो ने मेरे और जावेद खान के ऊपर अपनी बंदूके तान रखी थी परंतु हमारे न मानने पर हमें रात को एक बजे तक अज्ञात स्थानों पर घुमाते हुए थाना टांडा ले गए जहाँ पर ए.एस.आई सुरिंदर सिंह व इनके साथियों ने हमें सोने नहीं दिया और हमारे हाथ ऊपर करवा कर दीवार के साथ लगा दिया और हमारी पीठ पर बंदूकें तान दी और सारी रात हमें तंग परेशान कर दिया और अगले दिन सुबह 4 बजे हमें अमृतसर जेल मैं डाल दिया ।

    इस अवसर पर शिवसैनिकों और दशहरा कंमेटी के सदस्यों ने बताया की हमें दो दिन तक पुलिस ने ये नहीं पता लगने दिया की इन्हें कहाँ ले जाया गया है अपने प्रयासों से जब हमने पता  किया और जब हमने एस.डी.एम् साहिब से जमानत के लिए मिले तो उन्हों ने भी उपरोक्त बातें दोहराई की तीक्ष्ण सूद और मेयर का हमारे ऊपर दबाव है की आपकी जमानते न ली जाये क्योंकि तुमने उनके बराबर दशहरा करके विवाद खड़ा किया हुआ है इस लिए हमें  डी. एस. पी समीर वर्मा और    सदर एस. एच. ओ राजेश अरोड़ा  व सिटी एस. एच. ओ अमरनाथ और एस. आई लाल सिंह व  सदर थाने की सारे पुलिसकर्मियों  और खास करके तीक्ष्ण सूद और राम लीला कमेटी के अध्यक्ष व मेयर शिव सूद व इनके गुंडों से जान का खतरा है ये हमें किसी भी समय कोई भी बड़े संगीन मुक्कदमों मैं झूठा फंसा सकते हैं  जान से मार सकते हैं इसलिए इन सब बातों की जानकारी हमने शिवसेना पंजाब प्रमुख योग राज शर्मा और है कमान को भी दे दी है शीघ्र ही एक बड़ा आंदोलन इस भाजपा के उपरोक्त नेताओं व पुलिस अधिकारियों के खिलाफ चलाया जायेगा ये हमारा दशहरा रोकने के सपने लेते रहेंगेor दशहरा धूम धाम से मनाया जायेगा

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here