पुलिस के ढीली कार्रवाई ने ली शैफाली की जान – आशुतोष शर्मा

    0
    11

    होशियारपुर की शैफाली की मृत्यु ने ज़िला पुलिस प्रशासन की ढीली कार्यप्रणाली पर जहां सवाल खड़े कर दिये हैं, वहीं पंजाब एवं केन्द्र सरकार के ’’बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’’ एवं ’’नन्ही छांव’’ जैसे अभियानों की पोल खोल दी है उक्त बात हिन्दु संगठनों की बैठक में परशुराम सैना के ज़िलाध्यक्ष आशुतोष शर्मा ने कही। श्री शर्मा ने कहा कि जहां समाज में शैफाली जैसी बेटियों को दहेज के लोभी ससुराल वालों से प्रताड़ना सहनी पड़ी है, वहीं पुलिस स्टेशनों में चक्कर लगा न्याय न मिलने पर आत्महत्या करने पर मजबूर हो गई। प्राप्त जानकारी अनुसार जहां शेखां मुहल्ले की विवाहिता शैफाली को ससुरालियों द्वारा मिट्टी का तेल डाल मारने की कोशिश पर थाना सिटी वालों को सुचित किया गया, कारवाई न होने पर मौजूदा एस.एस.पी. को लिखित शिकायत एम.एल.आर.सहित सौंपी गई परन्तु इस कारवाई को गम्भीरता से न लेते हुये एस.एस.पी. साहिब ने रोज़मर्रा की तरह विनय पत्र को मार्क कर आगे निचले अफसर को मार्क कर दिया। जिसके परिणामस्वरूप मौजूदा अफसर द्वारा भी शैफाली के परिवार सहित कारवाई को केवल चक्करों तक ही सीमित रख दिया गया। यहां तक कि न तो पुलिस प्रशासन को और न ही ससुराल वालों को शैफाली जैसी मां पर रहम आया जिन्होंने मात्र 6 महीने की बेटी को भी 22 दिनों तक मां से दूर रख उन्हें मानसिक तौर पर प्रताड़ित किया। न्याय न मिलने पर एवं पुलिस प्रशासन द्वारा राज़ीनामे का दवाब डालने पर शैफाली ने आत्माहत्या का रास्ता इख्तियार किया। उपस्थित बजरंग दल सैना पंजाब के अध्यक्ष मुकेश सुरी ने कहा कि जहां आज पुलिस जनता के आक्रोश को शान्त करने के लिए केवल पर्चा दर्ज कर उक्त दोषियों की गिरफ्तारियों की ओर जनता का ध्यान भटकानेे में लगी हुई है, श्री सुरी ने मांग की कि न केवल दोषियों को गिरफ्तार किया जाये बल्कि निष्पक्ष जांच कर उन पुलिस अधिकारियों पर आत्महत्या के लिए मजबूर करने एवं मौजूदा ओहदे का गलत इस्तेमाल करने का पर्चा दर्ज किया जाये ताकि भविष्य में पुलिस कार्यप्रणाली पर लोगों का विश्वास बनाया जा सके अन्यथा हिन्दू संगठन पूर्णतः शहरवासियों को इकट्ठा कर धरना प्रदर्शन करने के लिए मजबूर हांेगे जिसकी पूर्णतःज़िम्मवारी ज़िला प्रशासन की होगी। जल्द ही इसकी एक लिखित शिकायत संगठनों द्वारा उच्च अधिकारी, महिला आयोग, ह्यूमन राईटस पंजाब को सौंपी जायेगी ताकि भविष्य में होशियारपुर मंे किसी और शैफाली जैसी बेटी की हत्या को रोका जा सके। इस अवसर पर हिन्दू संघ के शहरी अध्यक्ष नरेन्द्र परशा, ब्राह्मण कल्याण परिषद के के.सी.शर्मा, सनातन धर्म महावीर दल के अमृतलाल अग्निहोत्री, वी.एन.यू.बी.एस.के. अक्षय पराशर, युवा परिवार के पवन कुमार, चन्द्रशेखर, चांद शर्मा, संदीप कुमार, आशु गुज्जर, हरीश कुमार, अजय ऐरी, राजीव शर्मा, विपूल पण्डित, अभिषेक ऐरी, अक्षय छिब्बर आदि मौजूद थे।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here