पार्षद निपुण शर्मा ने उठाया सफाई व्यवस्था का मुद्दा, समस्त पार्षदों ने दिया समर्थन

    0
    8

    -कांग्रेसी ही नहीं सत्तापक्ष भाजपा-अकाली पार्षदों ने भी चरमराई सफाई व्यवस्था पर रोया अपना दुखड़ा
    नगर निगम में हाउस की बैठक में यूं तो कई मुद्दों पर बहस होती है, मगर इस बार निगम हाउस की बैठक में जहां करोड़ों रुपयों के विकास कार्यों को स्वीकृति दी गई वहीं एक मुद्दा ऐसा भी था जिसके दर्द से न केवल विपक्षी कराह रहे थे बल्कि निगम पर काबिज सत्तापक्ष से जुड़े भाजपा-अकाली पार्षदों का दर्द भी खूब छलका। बैठक दौरान भाजपा पार्षद निपुण शर्मा द्वारा अपने वार्ड की चरमराई सफाई व्यवस्था की उदाहरण देते हुए जब यह कहा गया कि हाउस में बैठा एक भी पार्षद अगर यह कह दे कि उनके वार्ड की सफाई व्यवस्था ठीक तो वे मान जाएंगे कि निगम द्वारा सफाई व्यवस्था को लेकर किए गए प्रबंध मुक मल हैं। उनके इतना कहते ही बैठक में मौजूद विपक्षी पार्षदों के साथ-साथ भाजपा-अकाली पार्षदों ने भी एक सुर में चरमराई सफाई व्यवस्था को लेकर अपना दुख व्यक्त करना शुरु कर दिया। बैठक में मौजूद एक भी पार्षद ऐसा नहीं था जिसने सफाई व्यवस्था के प्रति अपनी संतुष्टि प्रकट की हो। इस दौरान यह भी बात सामने आई कि सफाई कर्मी तो काम करना चाहते हैं, मगर बाबूओं पर चैक न होने के चलते वे अपने कर्तव्य को ईमानदारी से निभाने में नाकाम साबित हो रहे हैं। इस दौरान पार्षद मोहन लाल पहलवान ने कहा कि नियमों के तहत सैनीटेशन कमेटी बनाए जाने का प्रावधान है तथा निगम में आज तक यह कमेटी नहीं बनाई गई। गौरतलब है कि दो साल पहले जब निगम का गठन हुआ था तो मेयर शिव सूद ने भी इस बात की वकालत की थी, मगर समय गुजरने के साथ यह मामला ठंडे बस्ते में पड़ा गया। जिसका नतीजा यह रहा कि शहर गंदगी के ढेर में बदलता गया और इसके चलते हाउस की बैठक में सफाई को लेकर हंगामा होना स्वभाविक सी बात है। बैठक मं यह भी बात रखी गई कि सफाई कर्मियों की दो टाइम हाजिरी लगाई जानी यकीनी बनाई जाए। ऐसा करके शहर की चरमराई सफाई व्यवस्था को सुचारु बनाया जा सकता है। बैठक दौरान पार्षदों ने कहा कि सफाई कर्मियों को मिलने वाला तेल, साबुल व दस्ताने इत्यादि दिए जाएं, जोकि नहीं दिए जाते। इसके कारण सफाई कर्मी आए दिन बीमार हो रहे हैं। निपुण शर्मा ने कहा कि सफाई बीटों को बढ़ाया जाए तभी हाजिरी यकीनी बनेगे और कार्यालय में बैठे बाबूओं की जवाबदेही तय की जाए। बैठक में सत्तापक्ष और विपक्ष द्वारा रखी गई मांगों को देखते हुए कमिशनर ने पार्षदों को आश्वस्त किया कि सात दिन के भीतर सफाई व्यवस्था को दुरुस्त बनाने के लिए बीटें बढ़ाई जाएंगी। बैठक दौरान सफाई व्यवस्था में परदर्शिता लाने के लिए सामूहित तौर पर सैनीटेशन कमेटी का भी गठन किया गया।
    पार्षद निपुण शर्मा ने पत्रकारों के साथ बातचीत में शहर के समस्त पार्षदों का धन्यवाद करते हुए कहा कि शहर को स्वच्छ बनाने के लिए हर पार्षद कमर कसे बैठा है। इसलिए हम सभी को ऐसे जनतक मुद्दों पर एकजुट होकर चलना चाहिए ताकि जो जि मेदारी हमें जनता ने सौंपी है हम सभी उस पर खरा उतर सकें।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here