निगम गऊशाला में रखे जाएंगे लावारिस पशु , कमिशनर ने कहा नहीं लिया जाएगा कोई चार्ज: अश्विनी गैंद

    0
    31
    होशियारपुर( रुपिंदर ) नगर निगम द्वारा बनाए गए गऊशला जोकि निजी संस्था को लावारिस  गऊधन की संभाल के लिए दिया गया। उस संस्था द्वारा पहले अखबार में सुर्खियों बढ़ोरने के लिए घोषणा की गई थी कि जो भी कैंटल पाऊड में पशु लेकर आएगा उससे कोई चार्ज नहीं लिया जाएगा। मगर आज सुबह योगेश कुमार एक लावारिस  गऊधन को पकडक़र निगम गऊशाला में लेकर गया तो उससे 2100 रुपए देने के लिए बोला गया। उसने कहा मैं तो गऊ सेवा के तौर पर इससे पकड़क़र लाया हूं ताकि शहर में घूम रहे लावारिस गऊधन को कम किया जाए। उसके बाद उसने  नई सोच के संस्थापक अश्विनी गैंद जोकि गऊसेवा के लिए प्रयासरत है। उनको फोन करके गऊशाला में बुलाया। जिन्होंने इसके बाद मंडल के सदस्यों को साथ लेकर नगर निगम कमिशनर बलबीर सिंह से मुलाकात करके इसके बारे में उन्हें अवगत करवाया। अश्विनी गैंद ने कहा कि निगम गऊशाला को सुचारू ढंग के साथ चलाने के लिए गऊशाला में सिस्टम बनाया जाए। गऊशाला की बकायदा चैकिंग की जाए, लावारिस गऊधन को गऊशाला में लेकर आने वालों से कोई चार्ज न लिया जाए। उन्होंने कहा कि सांडों के लिए अलग से शैड बनाई जाए और उनकी टैगिंग की जाए आदि। इस पर नगर निगम कमिशनर ने कहा कि जिस मकसद के लिए यह गऊशाला बनाई गई है उसको पूरा करने के लिए शहर में घूम रहा लिवारिस गऊधन जल्द से जल्द इस गऊशाला में पहुंचाया जाएगा। इसकी रोजाना गिनती की जाएगी और इसके ऊपर लगाई गई कमेटी निरंतर जांच करेंगी। इस मौके पर अश्विनी गैंद ने कहा कि जल्द ही शहर में घूम रहा लिवारिस गऊधन को निगम गऊशाला में पहुंचाया। कमिशनर ने उन्हें आश्वासन दिया है गऊधन के साथ-साथ सांडों को भी इस गऊशाला में रखा जाएगा।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here