देने वाला जब देता ,देता छप्पड़ फाड़ के…

    0
    21

    -होशियारपुर के असलामाबाद में गमले बनाने का काम करता है चांद आलम
    होशियारपुर। कहते हैं भगवान जब भी देते हैं छप्पड़ फाड़ कर देते हैं। कुछ ऐसा ही हुआ चांद आलम के साथ, जिसकी राखी बम्पर की पांच लाख रुपये की लाटरी लगने से उसके किस्मत के सितारे चमक उठे हैं। लाटरी लगने का समाचार पाकर चांद इतना खुश था कि वह उसे शब्दों में बयान ही नहीं कर पा रहा था। चांद ने कहा कि वह मोहल्ला असलामाबाद में पुल के पास गमले बनाने का काम करता है तथा वे दुबई जाना चाहता था और उसे 80 हजार रुपये की जरुरत थी। उसके पास 50 हजार रुपये थे और वे 20-30 हजार रुपये के जुगाड़ के लिए अपने दोस्तों व जानने वालों से संपर्क साध रहा था। परन्तु अब भगवान ने उसकी सुन ली है और वे यह सारे पैसे अपने पिता दिलशाद को देगा ताकि इस पैसे से घर का कुछ काम करवा सके और अपने व्यवसाय को बढ़ा सके। चांद ने बताया कि उसने रक्षा बंधन से दो दिन पहले ही लाटरी टिकट बेचने वाले खरैती लाल (बबलू) से यह टिकट खरीदा था तथा उसे पता ही नहीं था कि बबलू से खरीदी टिकट उसके लिए किस्मतवाली सिद्ध होगी। उसने टिकट बिक्रेता के साथ दुआओं के लिए अपने दोस्तों व चाहने वालों का आभार व्यक्त किया। इस मौके पर बबलू के पिता दिलशाद ने कहा कि उनके पांच बेटे हैं तथा सबकी तरह चांद भी बहुत मेहनती लडक़ा है। उन्होंने बताया कि वे उत्तर प्रदेश के टांडामती गांव से संबंधित हैं और पिछले 20 साल से होशियारपुर में ही गमले इत्यादि बनाने का काम करते हैं। उन्होंने कहा कि वे खुश हैं कि चांद को अब विदेश जाने के लिए किसी से मदद नहीं लेनी पड़ेगी और इस पैसे से वह अपना कारोबार और बढ़ा सकता है। इस मौके पर वरिंदर परहार, गुरिंदर सिंह गोल्डी, लाटरी बिक्रेता बबलू, रुमेल सिंह इत्यादि भी मौजूद थे।
    फोटो:- चांद आलम को बधाई देते वरिंदर परहार व अन्य।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here