गुरमीत राम रहीम को सुप्रीम कोर्ट से झटका लगा है।

    0
    11

    नई दिल्‍ली। डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम को सुप्रीम कोर्ट से झटका लगा है। कोर्ट ने 14 साल पुराने रेप मामले में डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम की दलील को खारिज करते हुए कड़ी फटकार लगाई है।

    डेरा प्रमुख पर चल रहा 14 साल पुराने रेप का मामला

    सुप्रीम कोर्ट ने उस याचिका को खारिज किया जिसमें रेप के एक मामले में पीड़ित महिला की हैंडराइटिंग और हस्ताक्षर के नमूनों की जांच कराने की अपील की थी। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि अगर कोई लेटर लिखता है और कहता है कि बाबाजी ‘I Love u’ तो इसका मतलब यह नहीं है कि वह उपलब्ध है।

    सीबीआई अदालत जल्द सुना सकती है फैसला

    एक महिला ने डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम के खिलाफ रेप का मामला दर्ज कराया था। डेरा प्रमुख इस मामले में जमानत पर जेल से बाहर हैं। वहीं दूसरी ओर पंचकुला की सीबीआई अदालत में लगातार मामले की सुनवाई चल रही है। और अब इस मामले में अदालत जल्द ही अपना फैसला सुना सकती है।

    कोर्ट ने खारिज की थी डेरा प्रमुख की याचिका

    इसी मामले में सालभर पहले गुरमीत राम रहीम ने पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट से दो पीड़ित में से एक की हैंडराइटिंग और हस्ताक्षर की जांच केंद्रीय फोरेंसिक विज्ञान प्रयोगशाला चंडीगढ़ के अलावा दूसरों जगहों पर कराने की मांग की थी, जिसे कोर्ट ने खारिज कर दिया था।

    हाई कोर्ट ने की थी CBI से जांच की सिफारिश

    गुरमीत राम रहीम पर रेप का मामला साल 1999 में आया था और 2002 में डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम के खिलाफ केस दर्ज किया गया था। हाई कोर्ट ने पत्र का संज्ञान लेते हुए सितंबर 2002 को मामले की सीबीआई जांच के आदेश दिए थे। जिसके बाद सीबीआई ने जांच में आरोपों को सही पाया और डेरा प्रमुख गुरमीत सिंह के खिलाफ विशेष अदालत के समक्ष 31 जुलाई, 2007 में आरोप पत्र दाखिल कर दिया था।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here