जिसने सवाल उठाए केजरीवाल ने पार्टी से किया अाऊट,कैसे पंजाब में बना पाएंगे पैठ?

    0
    12

    JANGATHA TIMES : जालंधरः अाप अादमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल समक्ष जिसने सवाल उठाए उसी को पार्टी से बाहर कर दिया गया। इस बात का खुलासा उन्हीं की पार्टी छोड़ चुके नेता कर रहे हैं। पंजाब में जगह बनाने अाए केजरीवाल इन नेताअों के बिना कैसे अपनी पैठ बनाएंगे ये तो वक्त ही बताएगा।
    पंजाब में अाम अादमी पार्टी की टिकट पर 2014 का लोकसभा चुनाव लड़ने वाले 13 उम्मीदवारों में से 8 ने एक-एक कर पार्टी का दामन छोड़ दिया है। फिर चाहे वे पार्टी से निकाले गए हों या खुद पार्टी से इस्तीफा दे गए हों। अमृतसर सीट से लोस चुनाव लड़ने वाले उपकार संधू को भी पार्टी ने बाहर का रास्ता दिखा दिया। इन नेताअों के अलावा भी प्रदेश में पार्टी को खड़ा करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले कई लोग पार्टी से अलग हो चुके हैं।
    पंजाब में अाप के संस्थापक कनवीनर रहे सुच्चा सिंह छोटेपुर ने जब पार्टी के सुप्रीमो अरविंद केजरीवाल की कार्यशैली पर सवाल खड़ा किया तो पार्टी ने उन्हें बाहर का रास्ता दिखा दिया। पार्टी ने उन पर अारोप लगाए अौर नोटिस जारी किया जिसका उन्होंने जवाब नहीं दिया। विधानसभा चुनाव से कुछ समय पहले उन्होंने अपणा पंजाब पार्टी बनाई। इससे पहले पटियाला से सांसद डा.धर्मवीर गांधी व फतेहगढ़ साहिब से सांसद एच.एस.खालसा को पार्टी ने निलबिंत कर दिया। डा.गांधी ने योगेंद्र यादव के साथ सबसे पहले पार्टी की गलत नीतियों के खिलाफ अावाज उठाई थी। इस वक्त उन्होंने अाप के विरोधियों को साथ लेकर अपना फ्रंट बना रखा है। खालसा ने भी गांधी की तरह तानाशाही नीतियों का विरोध किया था जिसपर पार्टी ने उन्हें भी निलंबित कर दिया।
    अन्ना हजारे के अांजोलन में शामिल रहे सुमेल सिंह सिद्धू ने अापके के गठन के बाद पार्टी ज्वाइन की। 2014 में उन्होंने लोकसभा चुनाव में उम्मीदवारों की सूची पर असहमति जताई तो उन्हें किनारे कर दिया गया। बाद में वे पार्टी से अलग हो गए। पार्टी की फाइनैंस कमेटी संयोजक हरदीप सिंह किंगरा ने विधानसभा चुनाव से पहले उम्मीदवारों की सूची पर सवाल खड़ा करते हुए इस्तीफा दे दिया। वहीं पार्टी के पूर्व पंजाब कनवीनर गुरप्रीत घुग्गी के साथ-साथ भारतीय हॉकी टीम में सैंटर फॉरवर्ड रहे पूर्व अाप नेता जगदीप गिल ने भी पार्टी को अलविदा कह दिया।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here