जस्टिस चौहान ने डा. अंबेडकर का बुत किया लोगों को समर्पित

    0
    15

    -6 फुट ऊंचा बुत बना आकर्षण का केंद्र
    ज्योत्सना विज, होशियारपुर।
    माननीय जज पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट तथा प्रबंधकीय जज होशियारपुर सैशन डिवीजन जस्टिस जतिंदरा चौहान ने जिला प्रबंधकीय कम्पलैक्स में भारत रत्न बाबा साहिब डा. भीम राम अंबेडकर जी के नए बुत पर श्रद्धासुमन भेंट किए व पर्दा हटा बुत को लोगों को समर्पित किया। इस दौरान माननीय जिला व सैशन जज एस.के.अरोड़ा तथा डीसी अनिंदता मित्रा ने भी बाबा साहिब डा. भीम राम अंबेडक़र के बुत पर श्रद्धासुमन भेंट किए। इस मौके डीसी अनिंदता मित्रा ने कहा कि डा. भीम राम अंबेडकर का जन्म 14 अप्रैल 1891 को मध्य प्रदेश के एक साधारण परिवार में हुआ। वह आजाद भारत के पहले कानून मंत्री थे और इनके द्वारा लिखित संविधान 29 सितम्बर, 1849 को अडाप्ट किया गया। डा. अंबेदकर साहिब भारतीय संविधान के निर्माता थे। उन्होंने कानून की उपाधी प्राप्त करने के साथ साथ अर्थ शा व राजनीतिक विज्ञान में अपने अध्यन और अनुसंधान के चलते हुए कई डाक्टर की डिग्रियां हासिल की। वह अपने आप में एक बहुत बड़ी संस्था थे। उन्होंने औरतों, दलितों व पिछड़े वर्ग के लोगों की आजादी के लिए योगदान डाला और इनकी बदौलत ही दुनिया का सबसे बड़ा लिखित संविधान असिस्तव में आया। उन्होंने भारत के लिए एक मजबूत संविधान का निर्माण किया। उन्होंने बातया कि यह बुत 6 फुट ऊंचा है जो कि मुख्य आकर्षण का केंद्र बना हुआ है।
    इस अवसर पर अतिरिक्त कमिश्नर (सामान्य) इकबाल सिंह संधू, डिप्टी कमिश्नर (विकास) जसवीर सिंह, एस.डी.एम. जतिंदर जोरावर, एस.डी.एम. गढ़शंकर हरदीप सिंह धालीवाल, सहायक कमिश्नर (सामान्य) नवनीत कौर बल, आई.ए.एस. (अंडर ट्रैनिंग) परमजीत सिंह, जिला ट्रांसपोर्ट अधिकारी जीवनजगजोत कौर, जिला विकास व पंचायत अधिकारी दिनेश वशिष्ट, जिला माल अधिकारी अमनपाल सिंह, जिला सामाजिक सुरक्षा अधिकारी जगदीश मित्र सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here