चुनावों के बाद अकाली नेताओं की आई शामत

    0
    24

    -होशियारपुर जमीन घोटाले में कई नेता नामजद
    जनगाथा । होशियारपुर। विधानसभा चुनाव के बाद सत्ताधारी लीडरों के कारनामे सामने आने शुरु हो गए हैं। बहु-चर्चित होशियारपुर भूमि- घोटाले में अकाली नेताओं व अफसरों के खिलाफ केस दर्ज हो गया हैं। विजीलैंस ब्यूरो ने सरकारी अधिकारियों से लाभ लेने वाले सियासी नेताओं के खिलाफ एफ.आइ.आर दर्ज कर ली है । मामले की जांच करने के लिए विशेष जांच टीम (एस.आइ.टी) के अधिकारियों ने यह पुष्टि की हैं।
    विजीलैंस ने अकाली नेता सतिंदरपाल सिंह ढट्ट , अवतार सिंह जोहल, , उस समय के होशियारपुर के तहसीलदार व नायब तहसीलदार समेत कुछ लोगों पर केस दर्ज कर लिया । मिली जानकारी अनुसार एस.आइ. टी ने कुछ ,समय पहले ही जांच मुक्मल कर ली थी ,परन्तु सियासी दवाब के चलते चुनाव तक अगली कार्रवाही रोक ली गई थी । पिछले वर्ष जून में मामला सामने आने पर मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने इसकी विजीलैंस जांच के हुक्म दिए थे ।
    आर.टी.आइ के कार्यकर्ता राजीव विष्ट्ठि ने खुलासा किया था कि जालंधर – होशियारपुर -चिंतपुर्नी फोर-लेन मार्ग प्रोजैक्ट के लिए जो जमीन नेश्नल हाइ-वे अथार्टी आफ् इंडिया द्वारा एक्वायर की जानी थी , वह जमीन अथार्टी के नाम तबदील हो जाने के बाद कुछ रसूखदार व्याकितियों ने सरकारी अधिकारियों के साथ मिलकर खरीद कर सरकार को करोड़ों रुपए का चूना लगाया था। मीडिया ने जब यह मामला उठाया तो सरकार को इस की जांच के हुक्म देने पड़े । जांच सामने आई ही थी कि लगभग एक सौ एकड़ जमीन प्रभावशाली व्याक्तितियों ने अफसरशाही के साथ मिलकर किसानों से कौडिय़ों के मूल्य पर जमीन खरीद ली और वहीं जमीन सरकार को करोड़ों के मूल्यों पर बेच दी ।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here