गुस्साएं कर्मियों ने थाने के समक्ष लगाया कूड़े का ढेर

    0
    11

    13819846_885546118255814_835255369_nहोशियारपुर (पंजाब)। 21 जुलाई को नगर नगम होशियारपुर के भीतर ड्यूटी पर तैनात दो सैनेटरी इंस्पैक्टरों पर हमला करके उन्हें घायल करने वालों की गिरफ्तारी न किए जाने के विरोध में आज सफाई कर्मियों एवं अन्य मुलाजिम संगठनों ने थाना सिटी का घेराव किया और घंटाघर चौक पर धरना देकर पुलिस की कार्यप्रणाली की निंदा की। इस दौरान सफाई सेवक रेहडिय़ों एवं ट्राली में कूडा-कर्कट लेकर पहुंचें और उन्होंने थाने के समक्ष कचरे का ढेर लगाकर अपना रोष व्यक्त किया। कचरे का ढेर थाने के आगे लगा देख पुलिस वालों के होश उड़ गए तथा सभी नाक चढ़ाकर बगले झांकने लगे। इस दौरान यूनियन नेताओं ने कहा कि घटना के पांच दिन बाद भी पुलिस द्वारा आरोपियों को गिरफ्तार न किया जाना पुलिस की कार्यवाही को संदेह के घेरे में ला रही है। उन्होंने कहा कि अगर सरकारी कार्यालयों में सरकारी कर्मचारी ही सुरक्षित नहीं हैं तो पुलिस जनता को क्या न्याय देगी। धरने की सूचना मिलने पर आला पुलिस कर्मी भी थाना सिटी पहुंच गए तथा कर्मियों को कार्रवाई की बात कहते हुए कचरा हटाने की बात कहने लगे। परन्तु धरने पर डटे कर्मियों ने पुलिस अधिकारियों की एक न सुनी तथा हमलावरों को गिरफ्तार करने की मांग पर अड़े रहे और उन्होंने पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। एक तरफ जहां कचरे से पैदा हो रही बदबू से आसपास के दुकानदारों और वहां से गुजर रहे लोगों के साथ-साथ पुलिस की नाक में दम हो रहा था। परन्तु धरनाकारी अपनी मांग पर अड़े रहे। पलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच करीब 4 घंटे तक चली कशमकश के बाद पुलिस अधिकारियों ने उन्हें आश्वासन दिया कि जल्द ही आरोपी पुलिस की गिरफ्त में होंगे। इसके बाद प्रदर्शनकारियों ने धरना उठाया तथा थाने के आगे से कचरा हटाया। इस उपरांत ही लोगों व पुलिस ने चैन की सांस ली।
    गौरतलब है कि 21 जुलाई को नगर निगम में अपने कार्यालय में बैठे 2 सैनेटरी इंस्पैक्टर संजीव एवं जनकराज पर कुछ युवकों ने हमला करके घायल कर दिया था तथा कार्यालय में तोडफ़ोड़ की थी। इससे गुस्साए कर्मियों ने कामकाज ठप कर दिया था।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here