गुरदासपुर में लगे गैंगस्टर विक्की गौंडर और उसके साथियों के पोस्टर, पुलिस ने किया बड़ा ऐलान

    0
    19

    JANGATHA TIMES : रदासपुर(दीपक): गुरदासपुर शहर में पुलिस प्रशासन द्वारा जगह-जगह पर गैंग जिन्होंने 20 अप्रैल को काहनूवान चौंक बाईपास पर तीन गैंगस्टरों को दिन-दिहाड़े गोलियां मारकर भून डाला था और मौके से फरार हो गए थे, जिसके बाद 20 दिन बीतने के बावजूद भी पुलिस के हाथ नही चढ़े। पुलिस ने आज गैंगस्टर विक्की गौंडर उसके साथी गैंगस्टर हैपी मजीठिया, ज्ञान खरल, सुख भिखारीवाल आदि के शहर में पोस्टर लगाए हैं, जिसके कारण पूरे इलाके में चर्चा का विषय बना हुआ है।
    सूचना देने वाले को पुलिस की तरफ से ईनाम
    जानकारी देते हुए एस.एस.पी भूपिन्द्रजीत सिंह ने बताया कि इन गैंगस्टरों को पकडऩे के लिए पुलिस के सीनियर अधिकारियों ने इन गैंगस्टरों के पोस्टर लगाने के आदेश जारी किए थे। जिसके बाद इनके पोस्टर जारी करके शहर में इनके पोस्टर लगा दिए गए हैं। इन गैंगस्टरों की सूचना देने वाले को पुलिस द्वारा ईनाम दिया जाएगा। उन्होंने शहर निवासियों को अपील की कि अगर शहर में इन गैंगस्टरों में से कोई भी गैंगस्टर दिखाई दे तो तुरन्त पुलिस को सूचित किया जाए।
    गुरदासपुर में दिन-दिहाड़े चलाई थी गोलियां
    गौरतलब है कि गुरदासपुर शहर के काहनूवान रोड बाईपास पर 20 अप्रैल को पांच नौजवान अपनी कार में सवार होकर जा रहे थे, जिसमें हरप्रीत सिंह, सुखचैन सिंह, दमन महाजन, हैपी और प्रिंस गुरदासपुर अदालत से पेशी भुगत कर वापिस आ रहे थे कि जब गुरदासपुर के काहनूवान रोड बाईपास पहुंचे तो वहां इनकी नजर रखी बैठे उक्त पांच गैंगस्टर जिन्होंने दिन-दिहाड़े ही इनकी गाड़ी रोकर सामने से अंधाधुंध गोलियां चलाई। जिसके बाद यह पांचों गैंगस्टर फरार हो गए थे। पुलिस के उच्चाधिकारियों ने सख्त नोटिस लेते हुए उन्होंने जिला गुरदासपुर में गैंगस्टरों के पोस्टर लगा दिए हैं। बतां दे कि गैंगस्टर विक्की गौंडर पटियाला की नाभा जेल कांड में फरार हो गया था, जो अभी तक पुलिस के हाथ नही आया व गुरदासपुर कांड में पहली बार सामने आया था। घटना को अंजाम देकर विक्की गौंडर फिर छिप गया है। जिसे ढूढऩे के लिए पुलिस ने जगह-जगह पर पोस्टर लगाए हैं।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here