क्या केजरीवाल के खिलाफ AAP में हो चुकी है बगावत की शुरुआत?

    0
    10

    JANGATHA TIMES : क्या दो साल पहले प्रचंड बहुमत के साथ सत्ता में आकर इतिहास रचने वाली आम आदमी पार्टी टूट की कगार पर है? क्या पहले पंजाब और गोवा और फिर एमसीडी में मिली हार के चलते आप संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के खिलाफ बगावत का ज्वालामुखी फटने वाला है? अगर पिछले दो-तीन दिन के घटनाक्रम और पार्टी नेताओं के बयानों पर नजर डालें तो इन दोनों सवालों का जवाब हां हो सकता है.

    अरविंद केजरीवाल ने कल मीडिया में जारी अटकलों को खारिज करने के लिए ट्वीट किया था कि कुमार विश्वास उनके छोटे भाई हैं और उन दोनों को कोई अलग नहीं कर सकता. लेकिन केजरीवाल के ट्वीट से ये मामला शांत होने के बजाय और बढ़ गया है क्योंकि अब तक केजरीवाल और कुमार विश्वास के बीच सबकुछ ठीक न होने की जो खबरें महज अटकलों पर आधारित थीं, उनपर इस ट्वीट से एक तरह से मुहर लग गई है.

    पंजाब-गोवा और दिल्ली में हार से कमजोर पड़े केजरीवाल
    पंजाब विधानसभा चुनावों में आम आदमी पार्टी को सत्ता का दावेदार बताया जा रहा था. गोवा में भी उसके अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद थी लेकिन विधानसभा चुनाव के जो नतीजे आए उनमें गोवा में पार्टी साफ हो गई वहीं पंजाब में भी उसके महज 20 विधायक जीत पाए. जैसे कि यही काफी नहीं था. राजौरी गार्डन के उपचुनाव में पार्टी के उम्मीदवार की जमानत जब्त हो गई जबकि एमसीडी चुनाव में तो पार्टी की और भी बुरी गत हुई और तीनों एमसीडी में मिलाकर भी वो 50 पार्षदों का आंकड़ा नहीं छू सकी. हार के बाद केजरीवाल ने जनता से भले ही माफी मांग ली हो लेकिन उनकी खुद की पार्टी के नेता उन्हें बख्शने के मूड में नहीं हैं.

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here