केंद्र ने दिया पंजाब सरकार को झटका,कर्ज माफ करने से इंकार

    0
    29
    चंडीगढ़ /  केंद्र में राजग सरकार आने पर पंजाब को नोटों के गफ्फे मिलेंगे, ऐसा कहने वाली बादल सरकार को अब तक नोट तो नहीं बल्कि कई झटके मिल चुके हैं। केंद्र सरकार ने अब पंजाब सिर चढ़े कर्ज़े को माफ करने से मना कर दिया है, जोकि पंजाब सरकार के लिए बड़ा झटका है। पंजाब सरकार को राजग सरकार से केंद्रीय कर्ज माफी मिलने की बहुत उम्मीद थी परन्तु केंद्रीय वित्त मंत्रालय ने स्पष्ट कर दिया है कि सरकार द्वारा कर्ज माफ करने के किसी भी मामले पर विचार नहीं किया जा रहा है। 
    पंजाब सरकार ने दलील दी थी कि पंजाब ने अातंकवाद खिलाफ बड़ी लड़ाई लड़ी और सीमावर्ती सूबा होने के कारण सरकार को बड़ी रकम खर्च करनी पड़ी। केंद्र सरकार ने यह सभी तर्क एक तरफ कर दिए। केंद्रीय वित्त मंत्रालय मुताबिक पंजाब पर केंद्र सरकार का कुल 3811.79 करोड़ रुपए का कर्ज है। पंजाब सरकार ने बीते तीन वर्षों दौरान इस कर्ज के बदले  केंद्र को 972 करोड़ रुपए का भुगतान किया है। इसके बाद भी पंजाब पर 3811.79 करोड़ रुपए का कर्ज बाकी है।इसके अलावा पंजाब पर अन्य कर्जे हैं, जिनकी रकम बड़ी है। वैसे पंजाब सरकार पर 31 मार्च 2015 तक केंद्र सरकार समेत दूसरे राज्यों का 1,13,318 करोड़ रुपए बकाया है। पंजाब सरकार को 5,000 करोड़ रुपए सालाना ब्याज भी बर्दाश्त करना पड़ रहा है।  पंजाब सरकार ने साल 2013 -14 में 337.94 करोड़, 2014 -15 में 324.66 करोड़ और 2015 -16 में 311.69 करोड़ रुपए की किश्तों की अदायगी केंद्र सरकार को की है।

    गौरतलब है कि पंजाब सरकार ने तकरीबन डेढ़ साल पहले वित्त कमीशन के पास से पंजाब के लिए विशेष राहत पैकेज की मांग की थी, जिसे कमीशन ने रद्द कर दिया था। यूं तो केंद्र सरकार ने साल 2005 -06 से साल 2009 -10 तक पंजाब का अलग -अलग स्कीमों के अंतर्गत 969.92 करोड़ रुपए का कर्ज माफ भी किया है।

    उधर संसद मैंबर और सीनियर अकाली नेता बलविन्दर सिंह भून्दड़ का कहना है कि पंजाब सरकार हमेशा ही केंद्रीय कर्ज माफ करवाने के लिए कोशिशें करती रही है परन्तु अभी तक कोई ठोस स्वीकृति नहीं मिली है। उन्होंने उम्मीद जताई  कि दूसरे सूबों की तरह पंजाब को भी राहत मिलेगी।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here