कुछ लोग यश, पैसा , अधिकार प्राप्ति के लिए कर्म करते है-साध्वी आणीमा

    0
    27

    होशियारपुर/ विनोद चौधरी 

    दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान की ओर से स्थानीय आश्रम गौतम नगर में जीवन और उनके विश्व भाईचारे के संदेश को समर्पित आध्यात्मिक कार्यक्रम करवाया गया जिस में अपने विचारों को रखते हुए श्री आशुतोष जी महाराज की शिष्या साध्वी आणीमा भारती जी ने कहा कि साधारण मनुष्य नाना प्रकार के हेतु लेकर कार्य करता है। क्योंकि बिना फल के कार्य कर ही नही सकता। कुछ लोग यश, पैसा , अधिकार प्राप्ति के लिए कर्म करते है। कुछ स्वर्ग प्राप्ति और अपना नाम चाहते हैं। लेकिन प्रत्येक देश में कुछ ऐसे नर रत्न होते हैं।जो केवल कर्म के लिए ही कर्म करते है वे नाम यश अथवा स्वर्ग की परवाह नही करते । वे केवल भलाई करते हैं। कि उससे दूसरों की भलाई होती है । साध्वी जी ने कहा कि देखा जाता है कि नाम तथा यश के लिए किया गया कार्य बहुधा शीघ्र फलित नही होता । यदि कोई मनुष्य नि:स्वार्थता से कार्य करे तो क्या उसे कोई फ लप्राप्ति नही होती?असल मे तभी तो उसे सर्वाच्च फल की प्राप्ति होती है सच पुछा जाए तो नि:स्वार्थता अधिक फ लदायी होती है।अंत में उन्होने कहा कि हमारे सभी महापुरूषो ने नि:स्वार्थ कर्म का अनुसरण किया। इससे यही सिखने को मिलता है कि नि:स्वार्थ कर्म करके फ ल की इच्छा को अलग करके किया कर्म हमें उतम चरिन्न दे सकता है और इसकी हमारे समाज को अधिक अवश्यकता है।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here