कही ख़ुशी कही गम ..

    0
    9

    होशियारपुर, अंकुश गोयल :- एक तरफ जहा पूरा देश आज़ादी दिवस की धूम में जूम रहा था वही पंजाब के ज़िला होशियारपुर का एक गांव ऐसा भी यहाँ पूरे गांव में मातम छाया रहा। पंजाब के ज़िला होशियारपुर का गांव हरीयाना कला इक साथ चार नौजवानों की मौत के शोक में था। जिनके अंतिम संस्कार मौके पर सेकड़ो लोगो ने नाम नम आँखोंके साथ विदाई दी। वही रिश्ते में भाई लगते पांचो नौजवानों के घरों मे सन्नाटा छा गया। होशियारपुर के गांव हरीयाना कला में दो दिन पहले खुशिया थी लेकिन आज मातम बिखरा हुआ है। एक साथ एक ही गांव के एक ही गली से एक ही बिरादरी से और अपने-अपने घरों के एकलौते चिराग अपने गांव के 13 नौजवान साथियों के साथ निलके थे हिमाचल में माता चिंतपूर्णी माता जवाली जी दरबार के दर्शन करने के लिए लेकिन भगवान को कुछ और ही मंजूर था। माता चिंतपूर्णी माता ज्वाला जी दरबार के दर्शन के बाद लड़को ने माता धर्मकोट का प्रोग्राम बनाया। मिली जानकारी के मुताबिक सभी नौजवान एक साथ शनिवार शाम अपने गांव से निकले थे माता चिंतपूर्णी व माता ज्वाला जी के दरबार के दर्शनों के बाद एक नदी में लडके नहाते हुए ढुब गये l जिनमे से एक डूबते नौजवान को बचाने की कोशिश करते उसे बचाने के चक्कर में छे नौजवान एक के बाद एक पानी में पहचे। जिसके बाद उनमे से पांच की मौत हो गई। जब कि इक नौजवान को बचा लिया गया। जिन्हें आज होशियारपुर लाया गया और जिनका अंतिम संस्कार पैतृक गांव हरीयाना  कला में एक साथ किया गया । इस मौके पर यहाँ परिवारिक मेंबरों में अपने एकलौते बेटो के जाने से ग़म में डुब्बे हुए दिखई दिए  l यही पुरे गांव में भी एक साथ चार नौजवानों की चितायों देख हर एक का हिर्दय कंम्प उठा। परिवारिक मेंबरों के साथ-साथ पुरे गांव का रो-रो कर बुरा हाल था l हर एक व्यक्ति की जुबान पर एक ही बात थी कि भगवान् का केहर इन घरों पर नही बक्लकी पुरे गांव कर टुटा है जिसका हर्जाना कभी भी पूरा नही हो सकता।

    दूसरी तरफ घटना स्थल पर जानकारी के मुताबिक जिस जगह पर यह हादसा हुआ था वहा प्रशासन कि ओर से लिखत रूप से लिखा गया था कि यहाँ पर आगे जाना सख्त मना है और खतरा भी बताया गया था लेकिन बच्यों की आपसी मिली भुगत कहे जा भगवान् की मर्जी जिसके चलते पांच नौजवानों को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा।

    इस बाबत हल्का विधायक सोहन सिंह ठंडल ने उसे एक मन्द भागा हादसा बताया जोकि कभी भी पूरा नही हो सकता। इस मौके पर दुःख की घडी में उन्होंने परिवार से  संवेदना जताई और सरकार की तरफ से हर सम्भव सहायता देने की बात कही।

    जिक्रयोग है की इस हादसे में पांच नौजवानों की मौत हुई थी जिसमे से चार का आज अंतिम संस्कार किया गया है जबकि एक नौजवान का अंतिम संस्कार एक दिन बाद में किया जायेगा l

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here