कपिल मिश्रा ने खत्म किया अनशन, बोले- अरविंद केजरीवाल जेल जाने से नहीं बच सकते

    0
    9

    JANGATHA/ नई दिल्ली: दिल्ली के पूर्व जल संसाधन मंत्री कपिल मिश्रा ने छठे दिन अपना अनशन खत्म कर दिया है. कपिल अब मंगलवार को सीएम अरविंद केजरीवाल के खिलाफ सबूत सौंपने सीबीआई के पास जाएंगे. उन्होंने कहा है कि केजरीवाल सरकार के खिलाफ भ्रष्टाचार को उजागर करने के लिए अनशन जरूरी था.

    पिछले 10 मई से अनशन पर थे

    आम आदमी पार्टी सरकार के खिलाफ दस मई से अनशन कर रहे दिल्ली के पूर्व मंत्री कपिल मिश्रा ने सोमवार को अनशन खत्म कर दिया है. उन्होंने अस्पताल में डॉक्टरों के सामने अनशन खत्म किया. उन्होंने कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जेल जाने से नहीं बच सकते. एक बार फिर उन्होंने कुछ सबूतों के साथ बुधवार को सीबीआई ऑफिस जाने और दिल्ली सरकार की एक-एक पोल खोलने की बात कही है. वह आम आदमी पार्टी को मिले चंदे में अनियमितताओं का ब्योरा देते वक्त संवाददाता सम्मेलन में बेहोश हो गए थे जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया.

    कपिल मिश्रा ने खत्म किया अनशन

    कपिल मिश्रा ने अस्पताल में डॉक्‍टरों के सामने अनशन को खत्‍म करने का ऐलान किया. उन्‍होंने कहा कि वे अब अरविंद केजरीवाल सरकार की एक-एक पोल खोलेंगे.
    उन्‍होंने कहा कि मैं कल 11 बजे सीबीआई दफ्तर जाऊंगा. वहां पर एफआईआर दर्ज कराऊंगा. इसके बाद फिर सीबीडीटी जाऊंगा. यहां पर मोहल्ला क्लिनिक की पोल खोलूंगा.रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कपिल मिश्रा ने केजरीवाल पर चंदे की गलत जानकारी देने का आरोप लगाते हुए उनसे इस्तीफा मांगा था, इसके बाद वह बेहोश हो गए और उन्हें इलाज के लिए राम मनोहर लोहिया अस्पताल ले जाया गया था.

    आप पर अनियमितताओं के आरोप लगाने के बाद मिश्रा हुए थे बेहोश

    दिल्ली की आप सरकार से निकाले गये पूर्व मंत्री कपिल मिश्रा एक संवाददाता सम्मेलन में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उनकी पार्टी पर वित्तीय अनियमितताओं का आरोप लगाने के बाद बेहोश हो गये थे. मिश्रा ने अपने आवास पर संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘अब साफ हो गया है कि अरविंद केजरीवाल भ्रष्ट हैं.’आप के पांच नेताओं की विदेश यात्राओं का ब्योरा देने से आप पार्टी के इनकार करने के खिलाफ पांच दिन से अनशन पर बैठे मिश्रा कमजोरी के कारण बेहोश हो गये. उन्होंने आप विधायकों शिव चरण गोयल और नरेश यादव का उल्लेख करते हुए कहा कि केजरीवाल के करीबी लोगों की फर्जी कंपनियों से आप को करोड़ों रुपये का चंदा मिला. बेहोश होने के बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

    टैंकर घोटाले का लगाया है आरोप

    मिश्रा केजरीवाल और उनके सहयोगियों की विदेश यात्राओं के विस्तृत विवरण की मांग करते हुए भूख हड़ताल पर थे. मिश्रा का आरोप है कि केजरीवाल ने शीला दीक्षित के मुख्यमंत्रित्वकाल में हुए टैंकर घोटाला मामले की जांच को प्रभावित किया है. उनका आरोप है कि केजरीवाल और उनके ‘दो आदमियों’ द्वारा टैंकर घोटाला मामले की जांच में लगातार देरी की गई और उसे प्रभावित किया गया. पिछले वर्ष अगस्त में एसीबी ने टैंकर घोटाला मामले में शीला की कथित संलिप्तता के आरोपों में उनसे पूछतांछ की थी और उन्हें 18 लिखित प्रश्नों का एक सेट भी दिया था.

    आम आदमी पार्टी पर शीला को बचाने का लगाया आरोप

    पिछले सप्ताह उन्होंने आरोप लगाया कि आप सरकार शीला को बचाने का प्रयास कर रही है. केजरीवाल सरकार ने स्टील के 385 पानी के टैंकरों की खरीद में अनियमितताओं को आरोपों की जांच के लिए जून 2015 को तथ्यान्वेशी समिति का गठन किया था. इसके बाद सरकार ने जून 2016 को तथ्यान्वेशी समिति की रिपोर्ट उपराज्यपाल नजीब जंग को भेज दी थी जिसके बाद इस मामले में एफआईआर दर्ज की गई थी.

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here