कच्चे मुलाजिम को निकालना तर्कसंगत नहीं, अधिकारी सरकार के आदेशों के विपरीत न करें कार्य: कुलवंत सैनी

    0
    10

    होशियारपुर, जनगाथा टाइम्स : (सिमरन)

    होशियारपुर : लॉकडाउन एवं करफ्यू के दौरान किसी भी मुलाजिम को निकलाना एवं उसके वेतन रोकने पर सरकार द्वारा रोक लगाई गई थी। लेकिन नगर निगम होशियारपुर के अधिकारी सरकार के आदेशों के विपरीत कार्य करते हुए पूरी तरह से मुलाजिम विरोधी नीतियों पर कार्य कर रहे हैं। जिन्हें किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। इसलिए निगम अधिकारियों ने जिस कच्चे मुलाजिम को निकाला है उसे तुरंत बहाल किया जाए। यह मांग नगर निगम कर्मचारी संगठन के प्रदेश महासचिव कुलवंत सिंह सैनी ने सरकार से की। उन्होंने कहा कि अघर कोई कर्मचारी समय पर काम नहीं पहुंचा या गैर हाजिर पाया गया तो उसके खिलाफ और भी कई प्रकार की कार्यवाहियां थी जो की जा सकती थी। मगर, अधिकारी द्वारा कर्मचारी को इसलिए निकाल दिया गया क्योंकि वो कच्चा मुलाजिम था और उसकी आवाज़ बुलंद करने वाला कोई नहीं था। लेकिन अधिकारी को यह नहीं भूलना चाहिए कि उसके पीछे पूरी यूनियन खड़ी है और समस्त कर्मचारी वर्ग उसे न्याय दिलाने के लिए एकजुट है।

    कुलवंत सैनी ने कहा कि करफ्यू के कारण निगम कार्यालय के कर्मचारी कार्यालय नहीं आते तो क्या अधिकारी उन्हें भी निकाल देंगे। उन्होंने कहा कि अगर अधिकारी ऐसा नहीं कर सकते तो उन्हें कच्चे मुलाजिम के साथ ऐसा करने का कोई हक नहीं है। उन्होंने कहा कि अगर मुलाजिम को सजा देनी ही थी तो उसे 5-10 दिन के लिए सस्पैंड किया जा सकता था या फिर उसकी 1-2 दिन का वेतन काटा जा सकता था। परन्तु दुख की बात है कि अधिकारी द्वारा उसे नौकरी से निकाल देना अधिकारियों के तानाशाह रवैये को व्यक्त करता है।

    उन्होंने कहा कि ऐसे समय में जबकि एक-एक कर्मचारी दिन रात एक करके जनसेवाओं को बेहतर बनाने में अपना अहम योगदान दे रहा है तो यूनियन यह मुनासिब नहीं समझती कि कर्मचारी को न्याय दिलाने के लिए किसी तरह का संघर्ष किया जाए। इसलिए अधिकारियों को चाहिए कि वो हालात को समझते हुए कर्मचारी को बहाल करें। अगर फिर भी अधिकारी अपने तानाशाही रवैये पर कायम रहते हैं तो फिर कर्मचारी को न्याय दिलाने के लिए यूनियन को कड़ा कदम उठाने को मजबूर होना पड़ेगा। जिसकी सारी जिम्मेदारी निगम अधिकारियों की होगी।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here