इस तरह रॉबर्ट वाड्रा के लिए मुसीबत बन गए बीजेपी सांसद

    0
    7

    नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सांसद किरीट सोमैया ने शुक्रवार को रॉबर्ट वाड्रा की कंपनी स्काईलाइट हॉस्पिटैलिटी के विवादित भूमि सौदा मामले की जांज कर रहे न्यायमूर्ति (सेवानिवृत्त) एसएन ढींगरा को पत्र लिखकर मामले से संबंधित अतिरिक्त सबूत सौंपे हैं। किरीट सोमैया ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के दामाद वाड्रा पर एक लाख रुपये के निवेश से 58 करोड़ रुपये की कमाई करने का आरोप भी लगाया।

    किरीट सोमैया ने न्यायमूर्ति सौंपे अतिरिक्त सबूत

    किरीट सोमैया ने ट्वीट किया कि रॉबर्ट वाड्रा का कमाल – गुड़गांव मलाई सौदा? एक लाख लगाकर कमाए 58 करोड़? मैंने प्रवर्तन निदेशालय, न्यायमूर्ति ढींगरा और मुख्यमंत्री से मामले की जांच का निवेदन किया है।

    किरीट सोमैया ने आरोप लगाया है, वाड्रा की कंपनी स्काईलाइट हॉस्पिटैलिटी ने फर्जी चेक के जरिए गुड़गांव में 3.531 एकड़ भूमि 7.5 करोड़ रुपये में खरीदी और धनराशि को विक्रेता ओंकारेश्वर प्रॉपर्टीज को भुगतान के रूप में प्रदर्शित किया गया।

    किरीट सोमैया ने अपनी चिट्ठी में लिखा है कि भूमि सौदे के कागजात में स्काईलाइट हॉस्पिटैलिटी द्वारा 45 लाख रुपये का भुगतान स्टाम्प शुल्क के रूप में भी प्रदर्शित किया गया है। डीएलएफ को भूमि की कीमत अग्रिम राशि के रूप में अदा की गई, जबकि स्टाम्प शुल्क बाद में अदा किए गए। वाणिज्यिक कॉलोनी के लाइसेंस वाली 2.701 एकड़ भूमि को डीएलएफ को 58 करोड़ रुपये में बेच दिया गया।

    हरियाणा की भाजपा सरकार ने पिछले वर्ष मई महीने में वाड्रा भूमि सौदे सहित हरियाणा के विवादित भूमि सौदों की जांच के लिए एक सदस्यीय समिति गठित की थी।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here