आम आदमी पार्टी की अनोखी पहल,लोगों की राय जान विधानसभा में उठाएगी मुद्दे

    0
    8

    JANGATHA TIMES : चंडीगढ़ : विधानसभा के लिए मुद्दे एकत्र करने को लेकर आम आदमी पार्टी पंजाब यात्रा शुरू करने जा रही है । यह यात्रा जिला हैडक्वार्टर में जाकर लोगों से मिल कर उनकी समस्याएं सुनेगी और मुद्दे जानेगी जिन्हें सत्र के दौरान आम आदमी पार्टी के विधायक सदन में उठाएंगे । इस यात्रा को ”पंजाब यात्रा विधानसभा दे” मुद्दे नाम दिया गया है। यह यात्रा 1 मई को अमृतसर से शुरू होगी ।
    उक्त जानकारी अाप नेता एच.एस.फुल्का ने प्रैस वार्त दौरान दी। उन्होंने बताया कि हर सैशन से पहले यह यात्रा निकाली जाएगी और मुद्दे इकट्ठे करने का प्रयास किया जाएगा । बुढ़ापा और विधवा पैंशन का मुद्दा भी उठाया जाएगा। इस मौके अ्न्य नेता भी मौजूद थे। उनका कहना था कि कांग्रेस ने चुनाव के समय में वादा किया था कि बुढ़ापा अौर विधवा पैंशन में वृद्धि की जाएगी लेकिन अब वितीय हालात का हवाला देते हुए वादे से मुकरना बहुत ही निंदनीय है।
    फुल्का ने मांग की कि जब तक बुढ़ापा और विधवा पैंशन का पैसे नहीं दिया जाता तब तक मुख्यमंत्री द्वारा लगाए एडवाइजर्स को मानदेय ना दिया जाए। फुल्का ने कहा कि विधानसभा में मुद्दा उठाएंगे की आउट सौर्सिंग बंद की जाए और कर्मचारियों की रेगुलर भर्ती निकाली जाए।

    नशा, क्राइम का सबसे बड़ा कारण बेरोजगारीः आप विधायक पिरमल
    अाप नेता पिरमल ने लाईनमैनों की भर्ती का मुद्दा उठाते कहा कि लाईनमैनों की भर्ती 1997 से नहीं की गई। उन्होंने मांग करते कहा कि सहायक लाईनमैनों की भर्ती पर विराम लगाकर बेरोजगार लाईनमैनों को पुनः नियुक्ति दी जाए।

    रमनजीत सिंह सिक्की का उद्धहारण देते हुए विधायक अमन अरोड़ा ने कहा की सिक्की रैली में सरेआम डी.एस.पी. को धमका रहे थे। उन्होंने कहा अन्य कई घटनाएं हुई जिसमें कांग्रेसी नेताओं के नाम सामने आए हैं। आज पंजाब के हालात अकाली-भाजपा सरकार के कार्यकाल से भी बदतर होते नजर आ रहे है। एेसा कुछ भी बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। अाप नेताअों ने कहा कि हम इस बात का स्वागत करते हैं कि कैप्टन मुंबई में उद्योगपतियों से मिले लेकिन आज पंजाब के उद्योगपतियों को कैप्टन की ज्यादा जरुरत है । मुम्बई वालो को नहीं। कैप्टन बताएं की मंडी गोबिंदगढ़ की लोहा इंडस्ट्री,जालंधर की स्पोर्ट्स इंडस्ट्री, अमृतसर और अन्य उद्योगपतियों को कब मिलेंगे। पंजाब विधानसभा के सैशन में राज्यपाल के अभिभाषण पर चर्चा ना करवाया जाना गैर सवैधानिक है । हम ऐसा नहीं चलने देंगे। अगर आगे भी सदन में हमे मुद्दे ना उठाने दिए तो हम अपनी पैरलर विधानसभा चलाएंगे।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here