‘आप’ ने मंत्री संदीप को बाहर का रास्ता दिखाकर राजनीति में नई मिसाल पेश की – एडवोकेट जैरथ

    0
    18

    होशियारपुर आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक व दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल शुरू से ही कहते थे कि हम राजनीति करने नहीं इसे बदलने आए हैं। वह आगे कहते हैं कि भ्रष्टाचार में लिप्त या चरित्रहीन यदि उनका अपना बेटा भी हुआ तो वह उसे बख्शेंगे नहीं। उन्होंने इसी के चलते दिल्ली के दो मंत्री पहले बर्खास्त किए वहीं अब दिल्ली का मंत्री संदीप कुमार जब गलत गतिविधियों में पाया गया तो उसे बिना किसी देरी न केवल मंत्रीमंडल से बर्खास्त कर दिया बल्कि उसे पार्टी से भी बाहर का रास्ता दिखा दिया। उक्त शब्द आम आदमी पार्टी की राष्ट्रीय परिषद के सदस्य एडवोकेट नवीन जैरथ ने जोन महिला इंचार्ज मनदीप कौर के नेतृत्व में मिलने आए शिष्ट मंडल से बातचीत के दौरान कहे। इस शिष्ट मंडल में मनदीप के अलावा सर्बजीत कौर, जसदीप कौर, जसविंदर कौर, जसदीप सिंह, प्रीतम सिंह, गुरपाल सिंह आदि शामिल थे। एडवोकेट जैरथ ने बताया कि देश के इतिहास में ऐसा सिर्फ पहली बार हुआ है जब किसी मुख्यमंत्री ने अपने 3 मंत्रीयों को सिर्फ आरोप लगने के तुरंत बाद उनकी छुट्टी कर दी। कांग्रेस, भाजपा व अकाली दल व देश के अन्य राष्ट्रीय व क्षेत्रीय दलों को आड़े हाथों लेते हुए उन्होंने कहा कि इन सभी दलों की कहनी व कथनी में जमीन आसमान का अंतर है। कहने में तो यह सभी दल खुद को भ्रष्टाचार मुक्त व चरित्रवान कहते हैं पर जब इन दलों के बड़े-बड़े नेता भ्रष्टाचार व चरित्रहीनता की कोई घटना करें तो इन सभी राजनीतिक पार्टियों के बड़े नेता उनपर कारवाई करने की बजाए अदालत में सजा होने तक उनके हक में बोल, देश के लोगों को धोखा देते हैं। कांग्रेस में नारायण दत्त तिवारी, दिगविजय सिंह, अभिषेक मनु सिंघवी इसके उदाहरण हैं तो केन्द्र में बैठी मोदी सरकार के पूर्व मंत्री निहाल चंद, कर्नाटक की विधान सभा में पार्न फिलमें देखते हुए भाजपा विधायक, असम व राजस्थान में कैमरे पर अश्लील हरकतें करते हुए पकड़े गए भाजपा के विधायक इस सब के ताजा उदाहरण हैं। कांग्रेस हो या भाजपा, इन सभी दलों ने इन नेताओं पर कारवाई करने के स्थान पर उन्हें उच्च पदों पर सुशोभित कर दिया।
    शिष्ट मंडल में शामिल पीडि़त सर्बजीत कौर के मामले में जैरथ ने पुलिस के उच्च अधिकारियों से मुलाकात कर उनके द्वारा आरोपित व्यक्तियों के खिलाफ तुरंत अदालत में चलान पेश कर उन्हें इंसाफ देने की मांग की। जैरथ ने कहा कि सर्बजीत कौर को भी इंसाफ इसलिए नहीं दिया जा रहा क्योंकि उसके केस में भी आरोपित एक व्यक्ति पुलिस विभाग से है। उन्होंने कहा कि यदि इस मामले में भी पुलिस ने तुरंत कारवाई न की तो वह मामला हाई कोर्ट ले जाएंगे।
    फोटो-जोन इंचार्ज मनदीप कौर को नेतृत्व में मिलने आए शिष्ट मंडल से बातचीत करते हुए ‘आप’ नेताओं एडवोकेट नवीन जैरथ।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here