आधार कार्ड व सरकारी दस्तावेजों को जारी करने की प्रक्रिया की जांच होनी चाहिये- विशिष्ट

    0
    33

    होशियारपुर
    आरटीआई अवेयरनेस फार्म पंजाब की कार्यकारिणी की बैठक संस्था के संस्थापक, चेयरमैन और जिला स्तरीय पीसीएड पीएनडीटी एक्ट सलाहकार कमेटी के मेंबर राजीव विशिष्ट की प्रधानगी में संस्था के मु य द तर होशियारपुर में हुई। बैठक का उद्देश्य आधार कार्ड जारी करने की प्रक्रिया और इसकी उन्नतियों संबंधी संस्था द्वारा की खोज के नतीजे बताना था।
    राजीव विशिष्ट ने बताया कि पिछले दिनों सिविल अस्पताल होशियारपुर में एक नाबालिग बच्ची रागिनी देवी द्वारा एक बच्चे को जन्म देने का सनसनीखेज मामला सामने आया था। रागिनी के उम्र के प्रूफ के तौर पर लगाया आधार कार्ड होशियारपुर के ही एक सुविधा सेंटर से जारी हुआ था। इसमें रागिनी की उम्र 15 साल और उसे शादीशुदा दिखाया गया था जो बाल विवाह प्रतिशोध अधिनियम 2006 की अवहेलना थी।
    दूसरा पिछले दिनों भारतीय फौज द्वारा सीमा पार से घुसपैठ करते पकड़े आतंकवादी अब्दुल रहमान के पास आधार कार्ड बरामद हुआ। विदेशी नागरिक के पास आधार कार्ड जैसा महत्वपूर्ण दस्तावेज कानून और सुरक्षा के लिए गंभीर चुनौती और चिंता का विषय है। उन्होंने कहा कि आधार कार्ड और अन्य महत्वपूर्ण सरकारी दस्तावेजों को जारी करने की प्रक्रिया की जांच की जानी चाहिए। विशिष्ट ने आधार कार्ड जारी करने की सारी प्रक्रिया, सा ट वेयर, तसदीक कर्ता और पहचान करने वाली अथॉरिटियों की कार्य प्रणाली की जांच और विश्लेषण करने की अपील की। इस मौके सभी मेंबरों ने सर्वस मति से फैसला लिया कि जल्द ही इस मुद्दे पर और जांच करके कमजोर पहलूओं को भारत सरकार के नोटिस में लाया जाएगा।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here