आतंकी बुरहान को पाकिस्तान ने कहा शहीद, काला दिन मनाने का ऐलान

    0
    7

    श्रीनगर: कश्मीर घाटी में मारे गए हिजबुल मुजाहिद्दीन के आतंकी बुरहान वानी को लेकर पाकिस्तान भारत को घेरने की फ़िराक में लगा है। अभी बीते दिनों जहां पाकिस्तान सुरक्षा परिषद के पांच स्थायी सदस्य देशों से कश्मीर घाटी में हो रही हिंसा की शिकायत की थी। वहीं अब पाकिस्तान बुरहान वानी को शहीद का दर्जा देती नजर आ रही है। केवल इतना ही नहीं, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने संसद का विशेष संयुक्त सत्र बुलाया है। बताया जा रहा है कि यह सत्र कश्मीर राज्य पर चर्चा करने के लिए बुलाया गया जिसमें नवाज शरीफ कैबिनेट ने कश्‍मीर पर प्रस्‍ताव पास करते हुए 19 जुलाई को काला दिवस के रूप में मनाने का ऐलान किया है।

    कश्मीर घाटी

    कश्मीर घाटी के मुद्दे पर हस्तक्षेप न करे पाकिस्तान

    पाकिस्तान के इतिहास में ऐसा पहली बार देखने को मिला है कि भारत के कश्मीर मुद्दे को लेकर संयुक्त सत्र बुलाया गया है। यही नहीं पाकिस्तान ने आतंकी बुरहान वानी को शहीद का दर्जा भी दे डाला।

    पाकिस्तान की इन संवेदनशील हरकतों को लेकर देश की सत्तारूढ़ मोदी सरकार ने पाकिस्तान की कड़ी आलोचना की है।  भारतीय विदेश मंत्रालय की ओर जारी बयान में कहा गया कि पाकिस्तान को हमारे देश के अंदरुनी मामलों में दखल देने का कोई अधिकार नहीं है, और कश्मीर घाटी में जो कुछ भी हो रहा है उससे निपटने में भारत सक्षम है।

    विदेश मंत्रालय का कहना कि कश्मीर में हिंसा के पीछे जो ताकतें हैं, उसे बख्शा नहीं जाएगा। विदेश मंत्रालय ने पाकिस्तान को आगाह करते हुए कहा कि वो अपने घर को दुरुस्त करने के बारे में सोचें, और सीमा पार से चलाई जा रही आतंकी गतिविधियों पर पर लगाम लगाए।

    आपको बता दें कि सुरक्षा परिषद के पांच स्थायी सदस्य देशों चीन, रूस, ब्रिटेन, अमेरिका और फ्रांस के राजदूतों से मुलाकात कर पाकिस्तानी विदेश सचिव ने कश्मीर के मौजूदा हालात की शिकायत की थी। उन्होंने आरोप लगाया था कि भारतीय सुरक्षा बल घाटी में मूलभूत मानवाधिकारों का हनन कर रहे हैं और उनके द्वारा नागरिकों की हत्या की जा रही है।

     

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here