अब दिल्ली-चंडीगढ़ रूट पर भी 200 km की रफ्तार से दौड़ेगी ट्रेन

    0
    26

    JANGATHA TIMES : दिल्ली-आगरा कोरिडोर में 160 किलोमीटर प्रति घंटा की रेल सेवा कामयाबी से शुरू करने के बाद रेलवे का लक्ष्य दिल्ली-चंडीगढ़ मार्ग पर फ्रांस की मदद से ट्रेनों की गति 200 किलोमीटर प्रति घंटे तक बढ़ाने का है, ताकि यात्रा में लगने वाले समय में कमी आ सके. दिल्ली चंडीगढ़ मार्ग 245 किलोमीटर लंबा कोरिडोर है, जो उत्तर भारत के सबसे व्यस्त मार्गों में से एक है.

    इस मार्ग को रेलवे की ओर से शुरू की गई पहली अर्ध उच्च गति सेमी हाई स्पीड परियोजना के लिए चुना गया है और इस पर 200 किलोमीटर प्रति घंटे की अधिकतम रफ्तार से रेल गाडियां चलाई जाएंगी. रेलवे ने 6,400 किलोमीटर के उच्च प्राथमिकता वाले नौ यात्री कोरिडोरों की पहचान की है, जिनमें दिल्ली-आगरा, दिल्ली-चंडीगढ़ मार्ग भी शामिल हैं. उन्हें अर्ध उच्च गति की ट्रेन सेवा चलाने के लिए अपग्रेड किया जाएगा.

    दिल्ली-कानपुर, नागपुर-बिलासपुर, मैसूर-बेंगलूरू-चेन्नई, मुंबई-गोवा, मुंबई-अहमदाबाद, चेन्नई-हैदराबाद और नागपुर-सिंकदराबाद मार्गो की भी पहचान यात्री ट्रेनों की गति बढ़ाकर 160-200 किलोमीटर प्रति घंटा करने के लिए की गई है.

    फ्रांसीसी रेलवे एसएनसीएफ 245 किलोमीटर लंबे चंडीगढ़ मार्ग सहित अर्ध उच्च गति परियोजना पर आने वाली लागत, इसे लागू करने का मॉडल और कार्यान्वयन रणनीति पेश करेगा. परियोजना से जुड़े रेलवे के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि फ्रांस की टीम अक्तूबर तक अपनी अंतिम रिपोर्ट दे सकती है.

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here