आपकी जिंदगी में कई मौके आएंगे, आप उन्हें एक ‘मौका’ तो देकर देखें – काजोल

0
81

‘मैंने जब पहली फिल्म की थी, तो बस यूं ही कर ली थी। एक दिन राहुल (रवैल) अंकल मेरे पास आए और कहा कि एक फिल्म बनाते हैं। मैंने मां से बात की और कहा कि कॉलेज में मैं यूं भी कुछ सीख नहीं रही हूं, तो यही करके देख लेती हूं। मैंने फिल्म के लिए हामी दे दी। पहले फिल्मों का मुहूर्त हुआ करता था और सैकड़ों लोग आते थे। उन सबके सामने मैंने अपना पहला शॉट दिया।
कैमरे से मैं कभी नहीं डरी। मुझे यह हमेशा एक मशीन की तरह लगा। जैसे घर में वॉशिंग मशीन, एसी, कूलर होता ना! वैसी ही एक मशीन… जो कभी-कभी ऑन हो जाती है। मेरी इस बात को राहुल अंकल ने महसूस किया और उन्हें यह अद्भुत लगी। फिल्म कैसी होगी, हिट होगी या फ्लॉप… मैंने इस बारे में भी कभी सोचा नहीं। मैं उस पल को जीने वाले लोगों में से हूं। मैं मानती हूं कि आप जो भी करें, उसे अपना 300 पर्सेंट दें। मैंने खूब मेहनत की, बुरे से बुरे हालात में की। मेहनत ही सफलता की चाबी है।
मैंने बचपन से आज तक कभी यह तय नहीं किया कि मुझे क्या बनना है, या क्या पाना है। हर बार मैंने वो चुना जो मेरे सामने था। हर विकल्प पर गौर किया और उनमें से एक मौके की तलाश की। मतलब यह कि मौके आएंगे, आप उन्हें ‘मौका’ देकर देखिए।
शायद यही कारण रहा कि काम को कभी मैंने हौवा नहीं बनाया। मैं जब काम नहीं कर रही थी… तो नहीं कर रही थी। अभी मेरे पास फिल्म नहीं है… तो नहीं है। जिंदगी केवल ‘प्रोफेशन’ से ही नहीं जुड़ी है। मेरी एक जिंदगी है, जो काम से भी जुड़ी है। काम भी अलग-अलग मायने रखता है। मेरे बच्चों को संभालना मेरा काम हैं, मेरा घर मेरा काम है, मेरी डायटिंग और मेरा वर्कआउट काम है। काम के मायने मेरे लिए कभी सीमित नहीं रहे। संतुष्ट रहने का यही राज़ है। आप हमेशा किसी खास ‘काम’ की तलाश में रहेंगे तो जीवन नहीं जी पाएंगे, असंतुष्ट ही रहेंगे।
मैं मानती हूं आप किसी से भी झूठ बोल सकते हैं, लेकिन कैमरा आपका झूठ पकड़ लेता है। आपका हर वो झूठ जो आपकी आंखों में दिखता है, कैमरा उसे पकड़ लेगा। अभी हाल ही में मुझसे किसी ने उम्र को लेकर सवाल किया कि क्यों कई एक्ट्रेस को लगता है कि वो बूढ़ी हो गई हैं, क्या ये चेहरे की झुर्रियों की वजह से है? मेरा जवाब था कि व्यक्ति बूढ़ा तब नजर आता है जब उसकी आंखों में कुछ मर गया हो। उसकी आंखों में कोई सपना मर गया है, थकावट आ गई है, बोरियत बस गई है, दिखता है कि वो जहां है वहां नहीं होना चाहता। अपने अंदर कुछ मरने मत दें, वो आंखों में दिखेगा। उम्मीद रखें। आज में जिएं। आज को अच्छा कर लिया, तो भविष्य अपने आप सुनहरा हो जाएगा।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here