पंजाब में पांच वर्ष से नहीं हुई बढ़ोतरी, पेट्रोलियम डीलर 3.28 रुपये प्रति लीटर के मार्जिन से निकाल रहे खर्च

0
154

जालंधर : पेट्रोलियम डीलर पेट्रोल की बिक्री पर मिलने वाले मात्र 3.28 रुपये प्रति लीटर के मार्जिन में से ही रिटेल आउटलेट के सारे खर्च निकालते हुए आर्थिक संकट से घिर गए हैं। बीते पांच वर्ष में पेट्रोल की कीमतों में लगभग 50 फीसद का इजाफा हो चुका है लेकिन पेट्रोलियम डीलर्स के मार्जिन में एक पैसा भी नहीं बढ़ाया गया है।

पेट्रोलियम डीलर को तेल की कीमत के बजाए प्रति लीटर की दर पर मार्जिन मिलता है। इसी मार्जिन में से ही उन्हें रिटेल आउटलेट पर तैनात कर्मचारियों का वेतन, उनकी वर्दी, बिजली का खर्च एवं उपभोक्ताओं के लिए अनिवार्य शौचालय एवं पीने के पानी जैसी सुविधाओं को भी उपलब्ध कराना पड़ता है। इसी में से वह अपने घर का खर्च भी चलाते हैं और इनकम टैक्स भी अदा करते हैं।

तेल कंपनियों की तरफ से अंतिम बार अगस्त 2017 में डीलर मार्जिन बढ़ाया गया था, जिसके मुताबिक पेट्रोल की बिक्री पर पेट्रोलियम डीलर को प्रति लीटर 3.28 रुपये और डीजल की बिक्री पर 1.96 रुपये प्रति लीटर मार्जन मिलता है।

उन्होंने कहा कि बीते पांच वर्ष के दौरान तेल कंपनियों से लेकर तेल एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय तक को गुहार लगाई जा चुकी है कि डीलर मार्जिन में बढ़ोतरी की जाए, लेकिन इस तरफ कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि पंजाब में पहले ही पड़ोसी राज्य की तुलना में पेट्रोल की कीमत ज्यादा है और बिक्री कम हो गई है। उन्होंने कहा कि अगर अभी भी तेल कंपनियां डीलर मार्जन नहीं बढ़ाएंगी तो फिर आर्थिक संकट से घिरे पेट्रोलियम डीलर तालाबंदी का शिकार हो जाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here