अध्यात्म का अभ्यास हमारे मन को सत्य और शुद्धि की ओर मोड़ता है-साध्वी ममता भारती

0
280

होशियारपुर। दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान द्वारा स्थानीय आश्रम गौतम नगर होशियारपुर में धार्मिक कार्यक्रम करवाया गया।

दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान द्वारा धार्मिक कार्यक्रम करवाया गया

जिसमें आशुतोष महाराज जी शिष्या साध्वी ममता भारती जी ने प्रवचन करते हुए जीवन में अध्यात्म के महत्व पर प्रकाश डालते हुए कहा कि, ऐसा वातावरण जहाँ सच्चाई का स्थान अराजकता या उद्दंडता ने ले लिया हो, ईमानदारी, नैतिकता का पालन करने वालों को कुटिल और धोखेबाजों के साथ निर्वाह करना पड़ रहा हो, तो ऐसे में दृढ़ इच्छा शक्ति की जरुरत होती है और यह तभी होता है, जब हम अपने जीवन में अध्यात्म को आत्मसात कर लेते हैं। अध्यात्म हमारी नकारात्मकता को दूर कर हमारे अशांत मन को शांत कर हमें ईश्वर से जोड़ता है। अध्यात्म का अभ्यास हमारे मन को सत्य और शुद्धि की ओर मोड़ता है।
अध्यात्म पथ पर हम स्वीकार कर लेते हैं कि जो भी हो रहा है, ईश्वर की इच्छा से ही हो रहा है। इस प्रकार की सोच हमारे संतुलन को बनाये रखने में मददगार होती है। ईश्वर के प्रति पूर्ण समर्पण हमारी आतंरिक शक्ति को संजोये रखता है। जीवन में आध्यात्मिकता को उतारने का उत्तम माध्यम ब्रह्मज्ञान की ध्यान-साधना है। सच्ची साधना यानि पूर्ण गुरु द्वारा दिया गया ज्ञान और उनके द्वारा बताई गई साधना विधि के द्वारा हमारे विचार संसोधित होते हैं। हमारा जीवन शांत, निर्मल और आनंदमयी बन जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here