“इस सुनामी” को रोकना द्रविड़ एंड कंपनी के लिए बड़ा चैलेंज, एक साल में किया गेंदबाजों का ऐसा बुरा हाल

0
67

नई दिल्ली: टीम रोहित (Rohit Sharma) आज से इस साल के आखिर में ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी20 वर्ल्ड कप (T20 World Cup) की तैयारियों के मद्देजनर इंग्लैंड के खिलाफ तीन टी20 मैचों की सीरीज का आगाज करेगी. इंग्लैंड की हालिया फॉर्म को देखते हुए यह सीरीज टीम इंडिया के लिए एक बड़ा चैलेंज होने जा रही है। और इस चैलेंज से निपटने के लिए को उस तूफान से पार पाना होगा, जिसने पिछले एक साल के भीतर अपना कद और बल्लेबाजी को नया मुकाम दे दिया है। और इस तूफान का नाम है जोस बटलर (Jos Buttler). जोस बटलर ने पिछले साल की जुलाई 7 से आज तक एक साल के भीतर गेंदबाजों के भीतर टेरर पैदा कर दिया है. और इसका सबसे बड़ा सबूत है इंडियन प्रीमियर लीग. चलिए आपको साल भर के भीतर जोस बटलर के टी20 के प्रदर्शन का सबूत दिए देते हैं, जिसके प्रदर्शन की बदौलत बटलर अब इंग्लैंड के नए टी20 कप्तान हैं।

पिछले साल की जुलाई 7 से बटलर ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में यूं तो सिर्फ 8 ही मैच खेले, लेकिन इन कम मैचों में शीर्ष स्तर पर बटलर तूफान की शुरुआत हो गयी थी. बटलर ने इन मैचों में 69.80 के औसत से 349 रन बनाए. इसमें श्रीलंका के खिलाफ बनाए गए नाबाद 101 रन भी शामिल हैं। और एक बार जम यह तूफान शुरू हुआ, तो आईपीएल में इस स्तर और ऊंचा चला गया।

यह आईपीएल ही रही, जिसमें बटलर ने गेंदबाजों के भीतर टेरर के स्तर को भी ऊंचा करते हुए बल्लेबाजी को एक नया आकर्षण प्रदान किया। आईपीएल में बटलर ने खेले 17 मैचों की इतनी ही पारियों में 57.53 के औसत से 863 रन बनाए. उन्होंने 2 शतक जड़े, तो स्ट्राइक रेट 149.53 का है। कहना गलत नहीं होगा कि आईपीएल में पहुंचते-पहुंचते बटलर का तूफान सुनामी में तब्दील हो गया. और भारत के गेंदबाजों को हर मैच में इस तूफान की काट निकालनी होगी. यह भारतीय गेंदबाजों के लिए ही नहीं, बल्कि कोचिंग स्टॉफ के लिए भी बड़ा चैलेंज हो चला है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here