विनोद मेहरा के प्यार में पड़ गई थीं रेखा, शादी के लिए जहर खाकर की थी सुसाइड की कोशिश

0
188

होशियारपुर। फ़िल्मी जगत। एक्टर विनोद मेहरा अपनी सहज अभिनय के लिए जाने जाते हैं। 70 और 80 के दशक में विनोद मेहरा एक ऐसे एक्टर उभरकर सामने आए जिनकी एक्टिंग की शैली से सभी प्रभावित हुए। विनोद मेहरा ने महज 45 साल की उम्र में इस दुनिया को अलविदा कह दिया। उन्होंने करीब 100 से ज्यादा फिल्में की हैं। 30 अक्टूबर 1990 में विनोद मेहरा का निधन मुंबई में हुआ था।

  • विनोद मेहरा की ज़िंदगी की किताब के वो पन्ने जो कभी न पढ़े गए

विनोद मेहरा का जन्म 13 फरवरी 1945 को पंजाब के अमृतसर में हुआ था। विनोद मेहरा ने अपने करियर की शुरुआत बतौर बाल कलाकार की थी। उस वक्त उनकी उम्र केवल 13 साल थी। फिल्म रागिनी में विनोद मेहरा को बाल कलाकार के रूप में काम करने का मौका मिला। इसके बाद उन्हें कई फिल्मों के ऑफर मिलने लगे।
फिल्मों में लगातार ऑफर के बाद भी विनोद मेहरा का मन नहीं लगा। साल 1965 में विनोद मेहरा एक बड़े प्राइवेट कंपनी में मार्केटिंग की नौकरी करने लगे थे। इसी दौरान दोस्तों के कहने पर उन्होंने ऑल इंडिया टैलेंट कॉन्टेस्ट में हिस्सा लिया। इस कॉन्टेस्ट के फाइनल में उनकी टक्कर राजेश खन्ना से हुई। राजेश खन्ना विजेता बने जबकि विनोद मेहरा दूसरे नंबर पर रहे।
साल 1971 में फिल्म एक थी रीता से विनोद मेहरा ने बतौर युवा एक्टर डेब्यू किया। उनका फिल्मी करियर काफी अच्छा चल रहा था हालांकि उनकी मां को शादी की चिंता होने लगी। विनोद मेहरा अपनी मां से बहुत प्यार करते थे। उन्होंने मां के कहने पर मीना ब्रोका से अरेंज मैरिज कर ली। शादी के कुछ ही दिन बीते थे कि उन्हें दिल का दौरा पड़ा। अस्पताल में इलाज के बाद विनोद की जान को बचाया जा सका।
फिल्में करने के दौरान विनोद मेहरा का दिल अपनी हीरोइन बिंदिया गोस्वामी पर आ गया। उन्होंने मीना को तलाक दिए बिना बिंदिया से शादी कर ली। बाद में उनकी पहली पत्नी ने तलाक दे दिया। बिंदिया से भी विनोद मेहरा का रिश्ता ज्यादा दिनों तक चल नहीं पाया। विनोद मेहरा को छोड़कर उन्होंने निर्देशक जेपी दत्ता से शादी कर ली।
बिंदिया से अलग होने के बाद विनोद मेहरा बिल्कुल अकेले हो गए। फिल्मों के दौरान उनकी जिंदगी में रेखा की एंट्री हुई। रिपोर्ट्स के मुताबिक रेखा, विनोद मेहरा पर शादी का दबाव डालने लगीं। यही नहीं गुस्से में रेखा ने कॉकरोच मारने की दवा भी खा ली थी। आखिरकार घरवालों की मर्जी के बगैर दोनों ने कोलकाता में शादी कर ली। विनोद मेहरा जब रेखा को लेकर घर पहुंचे तो उनकी मां कमला मेहरा भड़क गईं और गुस्से में आकर चप्पल फेंक मारी।
रेखा जब अपनी सास का पैर छूने के लिए झुकीं तो उन्हें धक्का मारकर दूर हटा दिया और गालियां देने लगीं। विनोद मेहरा ने किसी तरह अपनी मां को समझाया लेकिन रेखा दुखी होकर वहां से जाने लगीं। विनोद ने भी रेखा से कहा कि वो अपने घर लौट जाएं। इस का खुलासा रेखा की बायोग्राफी रेखा: एन अनटोल्ड स्टोरी में की गई। विनोद मेहरा की ये तीसरी शादी थी हालांकि दोनों का रिश्ता ज्यादा दिन टिक नहीं पाया और दोनों ने अलग होने का फैसला किया।
रेखा से अलग होने के बाद विनोद मेहरा ने साल 1988 में किरण नाम की एक महिला से शादी की। विनोद और किरण के दो बच्चे रोहन और सोनिया हुए। आज उनके दोनों बच्चे फिल्म इंडस्ट्री में सक्रिय हैं। रोहन मेहरा ने हाल ही में फिल्म बाजार से डेब्यू किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here