बागी बसपा वर्करों ने अकाली – बसपा गठबंधन के विरोध में बसपा बचाओ कमेटी का किया गठन

0
331

माहिलपुर। – टिकटों की वितरण और अकाली दल से हुए गठबंधन का विरोध कर रहे बागी बसपा वर्करों ने बसपा प्रधान जसबीर सिंह गढ़ी की शनीवार की माहिलपुर फेरी का विरोध करने की घोषणा करके हल्का गढ़शंकर के अकाली बसपा गठजोड़ के लिए खतरे की घंटी बजा दी है। आज माहिलपुर में बसपा के मिशनरी एंव बागी नेताओं की रछपाल सिंह लाली भारटा के नेतृत्व में हुई मीटिंग में यह घोषणा कर गढ़शंकर सीट के लिए बसपा बचाओ संघर्ष कमेटी का गठन किया। इस अवसर पर संबोधित करते हुए नेताओं ने कहा कि बसपा हाई कमांड ने अकाली दल से समझौता करते समय पंजाब के जमीनी स्तर पर जुड़े किसी भी व्यक्ति से राबता कायम नहीं किया। उन्होने कहा कि पंजाब बसपा प्रधान ने हाई कमांड के गुमराह कर यह सीट अकाली दल को दे दी है और दोआबे के दलित प्रभाव वाली सीटों को भी उन लोगों को दे दिया जो दूलरी पार्टीयों को छोड़ कर बसपा में आये है। उन्होने कहा कि बसपा प्रधान ने उनको कांग्रेस से मिले हुए बता कर आग पर घी डालने का काम किया है जिस कारन कमेटी ने फैसला किया है कि शनीवार को गढ़शंकर में बसपा प्रधान की अकाली दल के साथ होने वाली रैलीयों का विरोध कर प्रधान के पुतले जलायें जायेंगे और प्रत्येक गांव में जा कर लोगों को इस समझौते के विरोध में जागरुक किया जायेगा। इस अवसर पर चमन लाल खेड़ा, अशोक बडेसरों, राजन खेड़ा, मलकीत सिंह, गुरदयाल राम, अमरजीत सिंह बिल्लु, रजिंदर कुमार, गुलजार चंद, बख्शीश भीम, मनी सिंह समेत भारी तादाद में बसपा नेता उपस्थित थे।
फोटो। माहिलपुर में बसपा बचाओ संघर्ष कमेटी के गठन मौके रछपाल सिंह लाली, बख्शीश सिंह और अन्य।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here