जरूर पढ़िए ! आप के भरोसेमंद पंजाब विधानसभा अध्यक्ष कुलतार सिंह की कहानी

0
147

चंडीगढ़। आम आदमी पार्टी के दो बार के विधायक कुलतार सिंह संधवां को सोमवार को सर्वसम्मति से 16वीं पंजाब विधानसभा का अध्यक्ष चुना गया। सीएम भगवंत मान ने सोमवार को सदन में संधवां के नाम का प्रस्ताव रखा था। मान ने उनको स्पीकर चुने जाने पर बधाई भी दी। उन्होंने अध्यक्ष से सदन की कार्यवाही के सीधे प्रसारण की अनुमति देने का आग्रह भी किया।

46 साल के संधवां ने विधानसभा चुनाव में कांग्रेस उम्मीदवार अजयपाल सिंह संधू को 21 हजार 130 मतों के अंतर से हराकर कोटकपुरा विधानसभा सीट से जीत हासिल की थी। वह पूर्व राष्ट्रपति जैल सिंह के सगे भाई जगीर सिंह के पोते हैं और उन्होंने कर्नाटक यूनिवर्सिटी से ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग की डिग्री की हुई है। संधवां ने पूर्व अध्यक्ष राणा केपी सिंह की जगह ली है। वो आप की किसान शाखा के अध्यक्ष रहे हैं।
संधवां ने अपना राजनीतिक सफर 2003 में गांव के सरपंच चुनाव से किया था। वो चुनाव जीते और फिर सरपंच बने। 2012 में उन्होंने आम आदमी पार्टी की सदस्यता ली। 2017 के चुनाव में कोटकपूरा से पहली बार विधायक पद का चुनाव लड़ा और करीब 10 हजार मतों से विजयी रहे।

स्पीकर बनने के बाद संधवां ने कहा कि पार्टी जो भी ड्यूटी सौंपेगी, उसे तत्परता के साथ निभाएंगे। कुलतार सिंह की माता गुरमेल कौर ने कहा कि उन्हें भरोसा है कि बेटा जिम्मेदारी निभाएगा। उन्हें उम्मीद है कि वह लोगों की उम्मीदों पर खरा उतरकर लोगों की भलाई के लिए काम करेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here