जरूर पढ़े – कुख्यात लेडी गैंगस्टर बोनी पार्कर और उसके पति क्लायड की कहानी जो एक ही एनकाउंटर में हुए थे ढेर

0
312

होशियारपुर । न्यूज़ डेस्क। आज बात दुनिया के सबसे ताकतवर देश माने जाने वाले संयुक्त राज्य अमेरिका की एक लेडी गैंगस्टर की बोनी पार्कर की। बोनी को जब अपने पति क्लायड का साथ मिल उन दोनों ने खूब आतंक मचाया। दिनदहाड़े बैंक डकैती और हत्याएं करना बोनी और क्लायड का शगल बन गया। हालांकि इन दोनों के जुर्म की दास्तां ज्यादा लंबी नहीं रही।

साल 1910 में जन्मी बोनी पार्कर अमेरिका के टेक्सास के रहने वाली थी। बोनी का बचपन और किशोरावस्था आराम से बीता लेकिन उसे 19 साल की उम्र में क्लायड से प्यार हो गया। क्लायड और बोनी ने जब कुछ दिनों शादी रचाई तो क्लायड पर हत्या का आरोप लगा। क्लायड आदतन अपराधी था और वह डकैती के आरोप में जेल भेजा गया था, जहां से वह फरार हो गया था।

शादी के दो साल बाद 1932 में क्लायड को फिर से पकड़ लिया गया। हालांकि कुछ दिनों बाद ही उसे परोल पर रिहा कर दिया गया। फिर दोनों ने मिलकर एक गैंग बनाया जो डकैती और हत्याओं को अंजाम देता था। देखते ही देखते यह गैंग पूरे अमेरिका में वारदातों के लिए मशहूर हो गया। 1933 में शहर की कई कार चोरी में बोनी और क्लायड का नाम आया तो एफबीआई (FBI) ने उनके नाम वारंट जारी कर दिया।

इसी साल बोनी और क्लायड का नाम शहर में एक गोलीबारी कांड में आया। क्लायड और बोनी के गैंग में क्लायड का भाई इवान एम बक बैरो भी अपनी पत्नी ब्लैंच के साथ शामिल था। शुरुआती दौर यानी 1932 में गैंग में कुछ दिनों तक एक खतरनाक शार्प शूटर रिमांड हैमिल्टन भी रहा, लेकिन उसके अलग होते ही विलियम डेनियल जोंस शूटर पर तौर पर गैंग से जुड़ा।

साल 1934 तक यह गैंग FBI की निगाह में चढ़ चुका था। एजेंसी की क्राइम लिस्ट के मुताबिक इस गैंग ने कुल 13 हत्याओं और लगभग इतनी ही चोरी/डकैती व अपहरण की घटनाओं को अंजाम दिया था। इस गैंग ने सबसे अधिक पुलिस कर्मियों को निशाना बनाया था। हालांकि यह सभी कई सालों तक पुलिस की पकड़ से बाहर रहे थे। 1934 में गैंग हिटलिस्ट में तब आई जब इन्होंने जेल से 5 कैदी छुड़ा लिए और इसके लिए 3 पुलिसकर्मियों को मौत के घाट उतार दिया गया था।

हालांकि, 23 मई 1934 को पुलिस को इनपुट मिला कि यह दोनों कपल कार से कहीं जाने वाले हैं। इसके बाद पुलिस ने इनकी कार को लुइसियाना और सेलेसहाई के पास घेर लिया। दोनों तरफ की जवाबी फायरिंग में बोनी और क्लायड जैसे कुख्यात अपराधियों को मार गिराया गया। पुलिस एनकाउंटर के वक्त क्लायड 25 साल तो वहीं बोनी पार्कर 23 साल की थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here