लहरा खाना हत्याकांड: तीन शार्प शूटरों ने दिया था वारदात को अंजाम, पुलिस रिमांड पर लिए गैंगस्टरों ने किया खुलासा

0
333

बठिंडा। नेटवर्क न्यूज़। बठिंडा के गांव लहरा खाना में 12 जनवरी को स्कोडा कार सवार अज्ञात हमलावरों द्वारा मनप्रीत सिंह छल्ला और मनप्रीत सिंह विक्की की गोलियां मारकर की गई हत्या के मामले में नया खुलासा हुआ है। पुलिस ने इस मामले में जेल में बंद तीन गैंगस्टरों भल्ला सेखूं, अमना और फतह नागरी को पांच दिन के पुलिस रिमांड पर लिया था। पुलिस रिमांड में तीनों आरोपियों ने खुलासा किया कि उक्त वारदात को उनके कहने पर तीन शार्प शूटरों ने अंजाम दिया था। पुलिस रिमांड पर चल रहे आरोपियों ने पुलिस को दो शार्प शूटरों के नाम बता दिए जबकि तीसरे का नाम जानने के लिए पुलिस प्रयास कर रही है।

गांव लहरा खाना में हुई हत्या के बाद सीआईए स्टाफ वन की पुलिस टीम केंद्रीय जेल में बंद तीन गैंगस्टरों भल्ला सेखूं, अमना और फतह नागरी को 15 जनवरी को प्रोडंक्शन वारंट पर लेकर आई थी। जिनको पुलिस ने अदालत में पेश कर पांच दिन का पुलिस रिमांड हासिल किया था। सूत्रों ने बताया कि पुलिस रिमांड के पहले तीन दिन में तीनों गैंगस्टरों ने पुलिस पूछताछ के दौरान कोई खुलासा नहीं किया बल्कि यही कहते रहे कि उन्होंने हत्या करवाई। लेकिन पुलिस रिमांड के चौथे दिन गैंगस्टर फतह नागरी ने पुलिस को बताया कि हैरी राजपुरा और हैरी मौड़ ने अपने तीसरे शार्प शूटर साथी के साथ मिलकर उक्त हत्या को अंजाम दिया था। आरोपियों ने पुलिस के समक्ष खुलासा किया कि हैरी राजपुरा और हैरी मौड़ को तो वो जानते हैं, लेकिन जो तीसरा शार्प शूटर इस कांड में शामिल है, उसको कनाडा में बैठे गैंगस्टर सुक्खा दुन्नेके ने हायर किया था।

पुलिस अब तीनों गैंगस्टरों को फिर से अदालत में पेश कर पांच दिन का ओर पुलिस रिमांड हासिल करने का प्रयास करेगी। सीआईए स्टाफ वन के इंस्पेक्टर तरजिंदर सिंह ने बताया कि तीनों गैंगस्टरों का पुलिस रिमांड बुधवार को समापत हो गया था। जिसके चलते फिर से उन्हें अदालत में पेश कर पुलिस रिमांड की मांग की जाएगी। सूत्रों ने बताया कि पुलिस की टीमें उन दो शार्प शूटरों की तलाश में निकल चुकी है जिनका नाम एवं पता मिला है। जबकि तीसरे शार्प शूटर का नाम जानने के लिए पुलिस प्रयास कर रही है।

30 बोर की तीन पिस्टल के साथ वारदात को अंजाम दिया गया

पुलिस सूत्रों से जानकारी प्राप्त हुई है कि उक्त वारदात को अंजाम देने के लिए तीनों शार्प शूटरों ने तीन 30 बोर के पिस्टलों का उपयोग किया था। यह पिस्टल चाइना मेड एवं दूसरे पिस्टलों से महंगे होते हैं। इन पिस्टलों की खासियत है कि इनका एक बार घोड़ा दबाने से फायर मिस नहीं होता। जिस के चलते गैंगस्टर उक्त 30 बोर के पिस्टल को ज्यादा तरजीह देते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here