कपूरथला पुलिस ने 45 लाख रुपये की डकैती और अपहरण के मामले का किया पर्दाफाश

0
255

कपूरथला: गौरव मढ़िया : पुलिस ने एक बड़ी सफलता में मनीचेंजर के करींदे के साथ हुई एक सनसनीखेज डकैती व अपहरण को सुलझाते हुए लूट के मास्टर माईंड को गिरफ्तार कर एक अन्य साथी के घर से लूट की राशि 22 लाख रुपये और दो कारें बरामद की हैं। गिरफ्तार किंगपिन की की पहचान अखिल रावत उर्फ सोनू वासी सेक्टर 51-ए, हाउस नंबर 122-ए, चंडीगढ़ निवासी के रूप में हुई है।

 

-गिरफ्तार किंगपिन अखिल रावत उर्फ सोनू वासी सेक्टर 51-ए, हाउस नंबर 122-ए, चंडीगढ़

– लूटी गई राशि में 22 लाख रुपये व अपराध में प्रयुक्त दो कारें बरामद

 

इस बात का खुलासा करते हुए आज यहां पुलिस कंपलैक्स में एसएसपी हरकमलप्रीत सिंह खख ने बताया कि 25 दिसंबर की शाम को फगवाड़ा शहर के मेन चौंक के पास सनसनीखेज घटना घटी, जब होशियारपुर स्थित मनी एक्सचेंजर प्राइवेट फर्म के कर्मचारी शंकर मैनी नाम के एक व्यक्ति का पेपर चौंक से तीन नकाबपोश अपराधियों द्वारा सिल्वर स्कोडा कार में अपहरण कर लिया गया था । बाद में जांच में पता चला कि शंकर मैनी का अपहरण डकैती के इरादे से किया गया था, क्योंकि वह अपने साथ 45 लाख रुपये लेकर जा रहा था।उन्होंने कहा कि पुलिस ने सिटी फगवाड़ा थाने में तीन अज्ञात लोगों के खिलाफ धारा 365-आईपीसी के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी थी। एसएसपी खख ने बताया कि एसपी जांच कपूरथला जगजीत सिंह सरोया, एसपी फगवाड़ा हरिंदरपाल सिंह परमार, डीएसपी फगवाड़ा अशरु राम शर्मा और सीआईए स्टाफ कपूरथला प्रभारी सब इंस्पेक्टर सिकंदर सिंह की देखरेख में विशेष जांच दल का गठन किया गया है। उन्होंने कहा कि टीम की विभिन्न थ्योरी के बाद विशेष जांच दल (एसआईटी) ने अपराध की साजिश रचने वाले किंगपिन अखिल रावत को पकड़ लिया हैं , जिसकी गतिविधियां पुलिस को संदेहास्पद लग रही थीं, इसलिए पुलिस ने तत्काल कार्रवाई करते हुए उसको गिरफ्तार कर लिया हैं। ज्ञात हो कि शंकर मैनी अखिल को कुछ राशि देकर वापिस आ रहा था। जिससे पूछताछ के दौरान जुर्म कबुल कर लिया है। स.खख ने बताया कि पुलिस टीम ने 22 लाख रुपये नकद और वारदात में इस्तेमाल होंडा कार नंबर सीएच 04-बी-0421 भी बरामद की है। प्रारंभिक पूछताछ के दौरान, अखिल ने खुलासा किया कि उसने अपने दोस्तों के साथ मिल कर 25 दिसंबर को फगवाड़ा में 45 लाख रुपये की लूट को अंजाम दिया था। पीडि़त शंकर मैनी का पीछा करने की सूचना अपने लोगो को दी। इसके बाद उन्होंने गाड़ी पर फर्जी नंबर पीबी-10-सी-1111 (मूल नंबर एचआर 26-वीबी-8026) के साथ एक स्कोडा कार में उसका अपहरण कर लिया और नकदी लूटने के बाद उसे गोराया शहर के पास छोड़ दिया था। आरोपियों की पहचान अमनदीप सिंह बुटर वासी गुरुसर शाह नाला 126, गुरुद्वारा फतेहाबाद, हरियाणा, शमी शर्मा पुत्र पृथ्वी राम शर्मा, एसएएस नगर मोहाली,गोशा वासी फतेहाबाद के रूप में हुई है। पुुलिस टीमों ने छापेमारी कर आरोपी अमनदीप बुट्टर के घर से एक ओर सिल्वर स्कोडा बरामद किया है। जांच से पता चला कि आरोपी ने स्कोडा कार की नंबर प्लेट बदल दी थी और वारदात के समय नकली नंबर का इस्तेमाल किया था, लेकिन कार का असली नंबर ओर था। उन्होंने कहा कि पुलिस मामले में आईपीसी की अन्य धाराएं 379-बी, 472 और 25-54-59 आम्र्स एक्ट को शामिल करेगी क्योंकि मामले में और खुलासे किए जा रहे हैं।उन्होंने कहा कि आरोपी को आगे की पूछताछ के लिए रिमांड पर लिया गया है और रैकेट के बाकी सदस्यों के ठिकानो का पता लगाया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here