Nucleus Software Exports समेत इन चार शेयरों में भारी उछाल

0
49

मुंबई: एफआईआई (FIIs) ने लंबे समय तक भारत में बिकवाली की लेकिन अब यह सिलसिला टूट गया है। अब वे भारतीय बाजार में खरीदारी कर रहे हैं और इस कारण बाजार में तेजी आ रही है। यहां हम ऐसे शेयरों के बारे में बता रहे हैं जो प्राइस वॉल्यूम ब्रेकआउट (price volume breakout) के दौर से गुजर रहे हैं। गुरुवार को अमेरिका शेयर सूचकांक तेजी के साथ बंद हुए। एसएंडपी 500 (S&P 500) और नैसडैक कंपोडिट (Nasdaq Composite) में लगातार चौथे दिन तेजी रही। शुक्रवार को जून के रोजगार के आंकड़े आएंगे और निवेशकों को इस रिपोर्ट का बेसब्री से इंतजार है। माना जा रहा है कि फेडरल रिजर्व (Federal Reserve) मंहगाई को काबू करने में सफल रहेगा और इसके लिए इकॉनमी के मंदी में जाने का खतरा नहीं है।

अमेरिकी शेयर बाजार में तेजी का असर शुक्रवार को एशियाई शेयर बाजारों पर भी देखने को मिला। वे मामूली तेजी के साथ ट्रेड कर रहे थे। उम्मीद की जा रही है कि अमेरिकी फेडरल रिजर्व इकॉनमी को मंदी के खतरे में डाले बगैर महंगाई पर काबू करने में सफल रहेगा। इसी उम्मीद में शेयर बाजारों में तेजी देखी जा रही है। ऐसा लग रहा है कि निफ्टी 50 इंडेक्स 13 जून, 2022 की गिरावट से उबर रहा है। अगर यह उसकी भरपाई करता है और कीमतें ऊपर बनी रहती हैं तो हम कह सकते हैं कि बियरिश टोन कम से कम नियर टर्म में खत्म हो गई है और यह 16,400 के लेवल तक जा सकता है। नियर टर्म में 16,150 से 16,200 का लेवल गुड सपोर्ट बैंड होगा। यह रही उन शेयरों की लिस्ट जो प्राइस वॉल्यूम ब्रेकआउट के दौर से गुजर रहे हैं..

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here