रयात बाहरा नर्सिंग कॉलेज में स्वास्थ्य विभाग द्वारा विश्व जनसंख्या दिवस पर सेमीनार का आयोजन

0
774

होशियारपुर। ”आजादी के अमृत महोत्सव में हम ले ये संकल्प, परिवार नियोजन को बनाएंगे खुशहाली का विकल्प” विषय पर विश्व जनसंख्या दिवस के अवसर पर स्वास्थ्य विभाग होशियारपुर द्वारा रयात बाहरा कॉलेज ऑफ नर्सिंग में सेमिनार का आयोजन किया गया। कैंपस डायरेक्टर डॉ.चंद्र मोहन के सहयोग से आयोजित इस सेमिनार में सिविल सर्जन होशियारपुर डॉ.बलविंदर कुमार डमाणा जी मुख्य अतिथि के रूप में शामिल हुए। स्वास्थ्य विभाग से जिला परिवार कल्याण अधिकारी डॉ. सुदेश राजन, जिला डेंटल स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. कपिल डोगरा, डिप्टी मास मीडिया ऑफिसर डॉ. तृप्ता के सिंह, डिप्टी मास मीडिया ऑफिसर रमनदीप कौर, जिला बी.सी.सी कोऑर्डिनेटर अमनदीप सिंह मौजूद रहे। सेमिनार के आयोजन में कॉलेज ऑफ नर्सिंग की वाइस प्रिंसिपल राज किरण और प्रोफेसर मनप्रीत कौर का विशेष सहयोग रहा।

सेमिनार को संबोधित करते हुए सिविल सर्जन डॉ. बलविंदर कुमार ने कहा कि विश्व की जनसंख्या जिस तेजी से बढ़ रही है, अगर इस वृद्धि को रोकने के लिए ठोस प्रयास नहीं किये गये, तो भविष्य में हमें इसके गंभीर परिणाम भुगतने होंगे। स्वास्थ्य की दृष्टि से सांस लेने के लिए स्वच्छ हवा न मिलने के कारण अस्थमा, तपेदिक और अन्य बीमारियों से पीड़ित रोगियों की संख्या भी बढ़ रही है। इन समस्याओं को ध्यान में रखते हुए जनसंख्या को स्थिर करने के लिए लोगों को परिवार नियोजन के लिए प्रोत्साहित किया जाता है।

डिप्टी मास मीडिया ऑफिसर डॉ. तृप्ता के सिंह ने कहा कि बढ़ती जनसंख्या के कारण देश के प्राकृतिक संसाधन तेजी से घट रहे हैं। पेयजल की कमी गंभीर हो गयी है। वनों और कृषि का क्षेत्रफल दिन-ब-दिन कम होता जा रहा है। देश की एक चौथाई आबादी को जीवन की बुनियादी जरूरतें भी नहीं मिल पा रही हैं। बढ़ती जनसंख्या के कारणों के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा कि हमारी धार्मिक और सामाजिक स्थितियाँ, रीति-रिवाज, लैंगिक असमानता, अशिक्षा और अज्ञानता इसके प्रमुख कारण हैं। उन्होंने कहा कि जब तक आम लोगों में इन कारणों के प्रति मानसिक जागरूकता नहीं आयेगी, तब तक इस गंभीर समस्या से राहत नहीं मिलेगी। उन्होंने विद्यार्थियों से परिवार नियोजन के अस्थिरएवं स्थिर साधन की जानकारी भी साझा की।

डिप्टी मास मीडिया ऑफिसर रमनदीप कौर ने कहा कि हर सेकंड पाँच नए लोग दुनिया में आते हैं। परिणामस्वरूप भोजन, पानी, तेल, स्वच्छ हवा, भीड़भाड़, संघर्ष, युद्ध आदि समस्याएँ भी तेजी से बढ़ने लगी हैं। इसलिए परिवार को नियोजित रखना बहुत जरूरी है। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग द्वारा आज से 24 जुलाई तक मनाये जाने वाले जनसंख्या स्थिरता पखवाड़ा के बारे में जानकारी साझा करते हुए कहा कि इस दौरान विशेष शिविर लगाकर विशेषज्ञ चिकित्सकों द्वारा नि:शुल्क नसबंदी एवं नलबंदी ऑपरेशन किये जायेंगे।

सेमिनार के दौरान विद्यार्थियों द्वारा बड़े परिवार के कारण उत्पन्न होने वाली समस्याओं को दर्शाता एक नाटक प्रस्तुत किया गया तथा विद्यार्थियों की पोस्टर मेकिंग प्रतियोगिता भी आयोजित की गई। भाग लेने वाले छात्रों को प्रशंसापत्र से सम्मानित किया गया। स्वास्थ्य विभाग की ओर से विद्यार्थियों को रिफ्रेशमैंट भी वितरित की गई। वाइस प्रिंसिपल राज किरण ने स्वास्थ्य विभाग की टीम का धन्यवाद किया।

अंत में डॉ.कपिल डोगरा ने रयात बाहरा कॉलेज ऑफ नर्सिंग के कैंपस डायरेक्टर और सभी स्टाफ को धन्यवाद दिया और छात्रों को जनसंख्या स्थिरता के लिए एक नईं सोच आगे लाने के लिए प्रोत्साहित किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here