लुधियाना कोर्ट में पूर्व पुलिसकर्मी गगनदीप ने किया धमाका : सिम और डोंगल के नंबर से हुई पहचान

0
321

लुधियाना। नेटवर्क न्यूज़। पंजाब के लुधियाना कोर्ट में गुरुवार सुबह हुए ब्लास्ट में मारे गए व्यक्ति की पहचान पूर्व पुलिसकर्मी गगनदीप सिंह (30) के रूप में हुई है। वह लुधियाना जिले के खन्ना सदर थाने में मुंशी के रूप में पदस्थ था। ड्रग माफिया से लिंक के कारण उसे 2019 में सेवा से बर्खास्त किया गया था। उसने दो साल तक जेल की सजा भी काटी। सितंबर में ही वह जेल से रिहा हुआ था।

पुलिस सूत्रों के मुताबिक, गगनदीप सिंह जीटीबी नगर खन्ना का रहने वाला है। उसके पिता का नाम अमरजीत सिंह है। गगनदीप सिंह को STF ने अगस्त 2019 में 85 ग्राम हेरोइन के साथ गिरफ्तार किया था। वह एक महिला के साथ मिलकर नशा तस्करी करता था। मोबाइल सिम और डोंगल के नंबर से इसकी पहचान हुई है।

हाथ पर खंडे का टैटू बनवा रखा था
गगनदीप छोटे कद का पहलवान टाइप का था। उसने अपने हाथ पर खंडे (सिख धर्म का प्रतीक चिह्न) का टैटू बनवा रखा था। उसके खिलाफ 11 अगस्त 2019 को U/S 21, 29-61-85 NDPS एक्ट के तहत पुलिस स्टेशन STF मोहाली फेज 4 में FIR नंबर 75 दर्ज हुई थी। मामले में लुधियाना जिले के खन्ना में NIA ने छापा भी मारा है।

CM के घर मीटिंग, DGP कल करेंगे PC
मामले को लेकर चंडीगढ़ में मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी के घर अभी हाईलेवल मीटिंग चल रही है। शनिवार को चंडीगढ़ में पंजाब के डीजीपी सिद्धार्थ चट्‌टोपाध्याय ने प्रेस कॉन्फ्रेंस रखी है। कहा जा रहा है कि लुधियाना ब्लास्ट को लेकर ही इसमें कोई खुलासा कर सकते हैं।

तीन डॉक्टरों के पैनल ने किया पोस्टमॉर्टम
इससे पहले मृतक शख्स का शुक्रवार को सिविल अस्पताल में पोस्टमॉर्टम हुआ। तीन डॉक्टरों के पैनल ने NIA अधिकारियों और जिला एवं सेशन जज की मौजूदगी में पोस्टमार्टम किया। पैनल में डॉ चरण कमल सिंह फोरेंसिक एक्सपर्ट, इमरजेंसी मेडिकल अफसर डॉ. विशाल शामिल थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here