नशे के कारण खुद पंजाब पुलिस की खाकी पर लगा दाग, हवलदार कोमा में गया, दो पुलिसकर्मी गिरफतार

0
102

फिल्लौर (जालंधर) : नशे के दंश से पूरा पंजाब जूझ रहा है। मुख्यमंत्री भगवंत मान और पंजाब पुलिस ने नशा तस्करों पर शिकंजा कसने का दावा किया है। इसके उलट नशे के कारण खुद पंजाब पुलिस की खाकी पर दाग लगता नजर आ रहा है। हैरान कर देने वाली बात है कि फिल्लौर स्थित पंजाब पुलिस की ट्रेनिंग अकादमी में भी नशा बेचा जा रहा है।

अकादमी में ही साथियों को फंसा रहे पुलिस कर्मी

ताजा मामले में फिल्लौर स्थित पंजाब पुलिस की अकादमी में नशा तस्करी का बड़ा स्कैंडल सामने आया है। अकादमी में एक सप्ताह पहले एक हवलदार रैंक का कर्मी नशा लेने के कारण कोमा में चला गया था। उस मामले की जांच की गई तो पता चला कि अकादमी के अंदर पुलिस कर्मी ही दूसरे कर्मियों को नशे के जाल में फंसा उन्हें बैंकों से कर्ज दिलवाकर उनकी जिंदगी बर्बाद कर रहे थे। जांच के बाद मंगलवार को अकादमी में तैनात सीनियर इंस्ट्रक्टर शक्ति कुमार और एक अन्य कर्मी जय कुमार पर फिल्लौर थाने में केस दर्ज कर लिया। दोनों को गिरफ्तार भी कर लिया गया है।

एकादमी में 8-10 पुलिस कर्मी नशे के आदी

शिकायतकर्ता सिपाही ने बयान दिया था कि वह अपने सीनियर इंस्ट्रक्टर शक्ति से अब तक 12 लाख रुपये का चिट्टा खरीदकर पी चुका है। उस जैसे अकादमी में और भी आठ से 10 पुलिसकर्मी हैं, जो नशे के आदी हैं। वह अपने सीनियर से सामान खरीदकर पीते हैं। जिस हवलदार की चिट्टे से तबीयत बिगड़ी, उसे डीएमसी लुधियाना में दाखिल करवाया गया था। डाक्टरों के मुताबिक उसकी हालत नशे के सेवन से खराब हुई। उसे वेंटीलेटर पर रखा गया है। पुलिस पता लगाने में जुटी है कि अकादमी में और कौन से कर्मी नशे के आदी हैं।

एसएचओ नरेंद्र सिंह ने बताया कि रमनदीप सिपाही के बयानों पर सीनियर इंस्ट्रक्टर शक्ति कुमार और दूसरे कर्मचारी जय कुमार पर मुकदमा दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here