चरम पर पहुंची CSK से लड़ाई? रविंद्र जडेजा ने धोनी को नहीं दी बधाई

0
68

Sports : चेन्नई सुपर किंग्स (सीएसके) के पूर्व कप्तान रविंद्र जडेजा ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट से आईपीएल टीम के 2021 और 2022 अभियानों से संबंधित सभी पोस्ट हटा दिए हैं। IPL के 15वें संस्करण से ठीक दो दिन पहले एमएस धोनी की जगह बाएं हाथ के ऑलराउंडर को चार बार के चैंपियन टीम का कप्तान बनाया गया था। लेकिन जडेजा की कप्तानी में टीम की शुरुआत अच्छी नहीं रही और बाद में दबाव के चलते उन्होंने कप्तानी छोड़ने का फैसला किया।

जडेजा के नेतृत्व में चेन्नई को अपने आठ में से छह मैच हारे। कप्तान के तौर पर उनका अपना प्रदर्शन भी औसत दर्जे का था। जडेजा 10 मैचों में 20 की औसत से सिर्फ 116 रन बना सके और 7.51 की इकॉनमी रेट से केवल पांच विकेट ले सके। कप्तानी छोड़ने के कुछ दिनों बाद उन्हें पसली की चोट के कारण प्लेइंग इलेवन से भी बाहर होना पड़ा था। उस वक्त यह खबर भी सामने आई थी कि जडेजा को टीम से हटा दिया गया है।

लगभग 3 महीने पहले यह भी नोटिस किया गया कि उनका प्रोफाइल अब ‘येलो आर्मी’ वाला नहीं रहा। यही नहीं, उन्होंने एमएस धोनी को सोशल मीडिया पर जन्मदिन की बधाई भी नहीं दी, जो हमेशा से करते आ रहे थे। इस बारे में एक फैन ने लिखा- जडेजा ने इस साल धोनी को उनके जन्मदिन पर शुभकामनाएं नहीं दी। (वह हर साल ऐसा करते थे।) उन्होंने इंस्टाग्राम पर सीएसके से जुड़े अपने सभी पोस्ट भी डिलीट कर दिए हैं। कुछ तो सही नहीं है।

एक अन्य यूजर ने ट्वीट किया- रविंद्र जडेजा शायद 2023 सीजन के लिए सीएसके छोड़ देंगे। सीएसके से संबंधित लगभग हर पोस्ट को हटा दिया। दीपक चाहर और अंबाती रायुडू के बारे में भी सुन रहे हैं, लेकिन इन दोनों के लिए पुष्टि नहीं की गई है। सीएसके के प्रशंसक के लिए स्वीकार करना कठिन दिन है।

जडेजा ने हाल ही में चोट से सफल वापसी करते हुए इंग्लैंड के खिलाफ एजबेस्टन टेस्ट की पहली पारी में भारत के लिए शतक बनाया। उन्होंने ऋषभ पंत के साथ 222 रनों की साझेदारी की, जिन्होंने 146 रन बनाए। यह पूछे जाने पर कि क्या वह सीएसके में जो कुछ सामने आया था, उसके बाद मजबूत वापसी करने की कोशिश में थे तो ऑलराउंडर ने जवाब दिया, “बिल्कुल नहीं।”

उन्होंने कहा- क्या हुआ? आईपीएल मेरे दिमाग में नहीं था। जब भी आप भारत के लिए खेल रहे हों तो आपका पूरा ध्यान भारतीय टीम पर होना चाहिए। मेरे लिए भी ऐसा ही था, भारत के लिए अच्छा प्रदर्शन करने से बेहतर कोई संतुष्टि नहीं है। एजबेस्टन में शतक जडेजा का पहला विदेशी शतक था।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here