Select Page

मोदी सरकार संकट की घड़ी में गरीबों के साथ-तीक्ष्ण सूद

मोदी सरकार संकट की घड़ी में गरीबों के साथ-तीक्ष्ण सूद

होशियारपुर (सिमरन ) विश्व स्तर पर फैली कोरोना महामारी के खिलाफ देश के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने यहां देशवासियों के समर्थन से इससे बचाव के लिए कमर कसी है,वही देश की गरीब जनता के लिए संकट की इस घड़ी में आर्थिक पैकेज देने की ऐतिहासिक घोषणा की है,जोकि स्वागतयोग्य है।
उक्त विचार जिला भाजपा नेताओं पूर्व कैबिनेट मंत्री तीक्ष्ण सूद,पूर्व मेयर शिव सूद,जिलाध्यक्ष विजय पठानिया,महामंत्री विनोद परमार,निपुण शर्मा,सुरेश भाटिया,कृष्ण अरोड़ा,द्वारा जारी संयुक्त प्रेस विज्ञप्ति में कहे।  भाजपा नेताओं ने कहा कि जिस तरह पूरा देश कोरोना महामारी के खिलाफ एकजुट होकर केंद्र सरकार के साथ सहयोग कर रहा है।देश की जनता उसके लिए बधाई की पात्र है।
इस संकट की घड़ी में देश की वो गरीब जनता जो सुरक्षा की दृष्टि से लगे लॉकडाउन के कारण रोजी रोटी से मोहताज़ हो गई थी।मोदी सरकार ने उनका हाथ थाम कर ऐतिहासिक कदम उठाया है।
प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने गरीब कल्याण पैकेज का एलान करके देश को बड़ी राहत दी है।इस योजना के तहत 1 लाख 70 हजार करोड़ का पैकेज दिया गया है,जिसमें  स्वास्थ्य विभाग के लोगों के लिए डॉक्टर,सफाईकर्मी,आशाकर्मी 50 लाख की राशि प्रति व्यक्ति बीमा योजना शामिल है।
80 करोड़ लोगों के लिए अन्न योजना अगले तीन महीनों तक गरीबों को 5 किलो चावल या गेंहू और 1 किलो दाल बिल्कुल मुफ़्त मिलेगी।
8 करोड़ 69 लाख किसानों को अप्रैल के पहले हफ्ते में 2000 की राशि खातों में  मनरेगा मजदूरों की दिहाड़ी बढ़ाकर 182 से बढ़ाकर 202 रुपए  3 करोड़ वृद्ध,विधवा,दिव्यांग लोगों को 1000 रुपये  20.5 करोड़ महिला जनधन खाते में हर महीने 500 रुपये अगले तीन महीनों के लिए उज्जवला योजना से जुड़े 8.3 करोड़ बीपीएल परिवारों के लिए 3 महीनें के लिए फ्री सिलेंडर अगले 3 महीने तक 100 से कम लोगों की क्षमता वाली कंपनी जिसमें 90 प्रतिशत कर्मचारी 15 हजार से कम कमाते है उन कर्मचारियों के लिए 12+12 ईपीएफओ में सरकार ही 24 प्रतिशत देगी  भाजपा नेताओं ने एक बार फिर से देश व प्रदेश की जनता से भावनात्मक अपील की है कि इस वैश्विक महामारी को खत्म करने के लिए 21दिवसीय लॉकडाउन को पूरी तरह से लागू करवाए।
अपनी और अपने परिवार की जान की सलामती आपके हाथ मे है।सरकार के निर्देशों का सख्ती से पालन करें।

About The Author

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *