Select Page

मिलजुल कर सभी विभाग करें काम, खत्म हो जाएगा नशे का नासूर: आई.जी जसकरण सिंह

मिलजुल कर सभी विभाग करें काम, खत्म हो जाएगा नशे का नासूर: आई.जी जसकरण सिंह
होशियारपुर (रुपिंदर ) नशे के नासूर को खत्म करने के लिए संयुक्त  प्रयास की जरु रत है, इसके लिए सभी विभागों को मिलकर काम करना होगा। सभी की अपनी-अपनी जिम्मेदारी है लेकिन जिले से नशे के नासूर को खत्म करने के लिए सभी को मिलकर ही काम करना होगा। पंजाब सरकार की ओर से इस मुद्दे पर किसी भी तरह की कोई लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। इस लिए सभी समझ लें कि उन्हें अपने-अपने क्षेत्र में नशे को जड़ से खत्म करने के लिए कोई कमी नहीं छोडऩी है। यह विचार पंजाब सरकार की ओर से नशा रोकथाम के अंतर्गत जिला होशियारपुर के लिए तैनात किए गए नोडल अधिकारी आई.जी पी.ए.पी जालंधर श्री जसकरण सिंह व विशेष सचिव परसोनल मिस नीलिमा ने आज जिला प्रशासन, पुलिस, शिक्षा व स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की बैठक को संबोधित करते हुए रखे। इस दौरान उन्होंने जिले के उप मंडल स्तर पर नशा रोकथाम के लिए चलाए जा रहे कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि जिले के गांवों में बने यूथ क्लब को प्रोत्साहित कर ज्यादा से ज्यादा खेल गतिविधियां करवाई जाएं। आई.जी जसकरन सिंह ने कहा कि  इस बार पैरामिलेट्री फोर्स के लिए बड़े स्तर पर भर्ती खुली है, जिसमें जिले के नौजवानों को अधिक से अधिक भर्ती के लिए प्रेरित किया जाए। सरकार की ओर से इच्छुक नौजवानों को भर्ती के लिए जरु री प्रशिक्षण दिया जा रहा है। उन्होंने पुलिस फोर्स को निर्देश देते हुए कहा कि कि नशे की रोकथाम को लेकर शैक्षणिक संस्थानों पर खास नजर रखने की जरु रत हैं। विशेष सचिव परसोनल मिस नीलिमान ने कहा कि मुख्य मंत्री पंजाब कैप्टन अमरिंदर सिंह की ओर से नशे के खिलाफ छेड़ी गई इस जंग में न सिर्फ नशे की सप्लाई को खत्म किया जा रहा है बल्कि नशा पीडि़त को नि:शुल्क इलाज मुहैया करवाया जा रहा है। इस लिए जिला प्रशासन सुनिश्चित बनाए कहीं भी किसी तरह की कोई लापरवाही न हो।
इस दौरान एस.डी.एम व पुलिस विभाग के अधिकारियों की ओर से भी अपने क्षेत्र की कारगुजारी की रिपोर्ट पेश की गई। डिप्टी कमिश्रर श्रीमती ईशा कालिया ने कहा कि जिले में सब डिविजन स्तर पर नशा रोकथाम नियंत्रण कमेटी बनाई गई है। इसके अलावा कलस्टर कोआर्डिनेटर बनाए गए हैं जो कि गांवों में जाकर नशे के प्रति लोगों को जागरु क करते हैं। गांवों में नुक्कड़ नाटक आयोजित कर लोगों को जागरु क किया जा रहा है। जिले के हर ब्लाक में एक गजटिड अधिकारी दौरा कर नशा रोकथाम कार्यों की समीक्षा करता है। स्कूलों में बनाए गए बडीज गुप के साथ सीनियर बडीज बैठक करते हैं। उन्होंने बताया कि सरकार की ओर से चलाई गई इस मुहिम का सकारात्मक परिणाम आ रहा है। जिले के सभी नशा छुड़ाओ केंद्र व पुर्नवास केंद्र अच्छी तरह चल रहे हैं। स्कूल शिक्षा विभाग की कारगुजारी के बारे में बताते हुए डिप्टी कमिश्नर ने कहा कि जिले में अभी तक 2,60, 171 बडी सदस्य बनाए जा चुके हैं। उन्होंने बताया कि जिले 995 सरकारी व मान्यता प्राप्त अपर प्राइमरी स्कूल है और सभी स्कूलों में बडी बनाए गए हैं, बडी के साथ सीनियर बडी रेगुलर बैठक करते हैं। इसके अलावा जिले के 16 मास्टर ट्रेनर मगसीपा से ट्रेनिंग लेकर आए हैं। यह मास्टर ट्रेनर ब्लाक स्तर पर नोडल अफसरों को ट्रेनिंग देंगे। एस.एस.पी श्री जे. इलेनचेलियन ने कहा कि पुलिस विभाग मुस्तैदी से जिले को नशा मुक्त  करने के अभियान में डटा हुआ है। डैपो वालंटियरों के साथ मिलकर नशा जागरु कता अभियान चलाया जा रहा है।
इस मौके पर ए.डी.सी श्रीमती अनुपम कलेर, एस.डी.एम मुकेरियां श्री आदित्य उप्पल, एस.डी.एम दसूहा श्री हरचरण सिंह, एस.डी.एम गढ़शंकर श्री हरदीप सिंह धालीवाल, आई.ए.एस (अंडर ट्रेनिंग) श्री गौतम जैन, एस.पी(मुख्यालय) श्री बलबीर सिंह, एस.पी(डी) श्री हरप्रीत सिंह मंडेर, सहायक कमिश्रर श्री रणदीप सिंह , सहायक कमिश्रर(अंडर ट्रेनिंग) श्री अमित सरीन के अलावा डी.एस.पीज व अन्य विभागों के प्रमुख उपस्थित थे।

About The Author

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

No announcement available or all announcement expired.