Select Page

450 बच्चोंं के लिए बना था मिड-डे मील, 200 खा चुके तो दाल में निकल आई थी छिपकली

450 बच्चोंं के लिए बना था मिड-डे मील, 200 खा चुके तो दाल में निकल आई थी छिपकली

जनगाथा / पटियाला.महिंदरा कन्या विद्यालय में बच्चों को मिड-डे मील परोसा गया। उसी दौरान 6वीं की मुस्कान ने प्रिंसिपल को बताया कि उसकी दाल में छिपकली है। इसके बाद स्कूल में हड़कंप मच गया। प्रिंसिपल ने तुरंत स्कूल मैनेजर प्रीतइंदर सिंह सिद्धू को बताया। उन्होंने तुरंत डीईओ कंवल कुमारी को इसकी जानकारी दी। डीईओ ने तुरंत सीएमओ आॅफिस को सूचना दी। उन्होंने स्कूलों की मिड-डे-मील कोअॉर्डिनेटर निधि वर्मा से कहा कि उनके स्कूल के 200 बच्चों ने छिपकली वाला खाना खा लिया है, आप दवा और बेड तैयार रखें, अगर कोई बच्चा बीमार होता है तो वह उसे अस्पताल में दाखिल कराएंगी। भगवान का शुक्र है कि सभी बच्चे 24 घंटे बाद भी सुरक्षित है।

मिड-डे मिल ठेकेदार ने साजिश का आरोप लगाया:इस बाबत जब एसएमओ डॉ. हरीश मल्होत्रा से सवाल किया तो उन्होंने कहा कि निधि वर्मा अपने लेवल पर कोई फैसला नहीं ले सकती हैं। उन्होंने इस बारे में सूचना नहीं दी। प्रिंसिपल ने बताया कि स्कूल में 8वीं तक के 450 बच्चों को रोजाना मिड-डे मील परोसा जाता है। बुधवार को खाना आने के बाद कुक महिलाओं ने नर्सरी, पहली, दूसरी, तीसरी अाैर छठी कक्षा के बच्चाें काे खाना बांटा था। मिड-डे मील की व्यवस्था करने वाले एनजीअाे के ठेकेदार मलकीत सिंह ने कहा कि वह बच्चों को जो खाना भेजते है, वह सफाई से बनाया जाता है। यह साजिश की गई है।

रोजाना 450 बच्चों को एनजीओ भेजता है मिड-डे मील:मैनेजर प्रीतिंदर सिंह सिद्धू ने कहा कि जिला शिक्षा अधिकारी को शिकायत दे दी है। उन्होंने ठेकेदार से सवाल-जवाब किया है। जिला शिक्षा अधिकारी कंवल कुमारी ने बताया कि मामला गंभीर है। बच्चाें के मामले में लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। खाना बनाने वाली जगह का मुआयना किया है। ठेकेदार काे सफाई के आदेश दिए हैं।

About The Author

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *