Select Page

फुटबॉल खिलाडिय़ों की नर्सरी साबित हो रही है माहिलपुर की फुटबॉल अकादमी

फुटबॉल  खिलाडिय़ों की नर्सरी साबित हो रही है माहिलपुर की फुटबॉल अकादमी

जनगाथा/ होशियारपुर । पंजाब सरकार की ओर से होशियारपुर जिले के कस्बे माहिलपुर में चलाई जा रही फुटबाल एकेडमी फुटबाल खिलाडिय़ों की नर्सरी साबित हो रही है तथा यह एकेडमी मिशन तंदरुस्त पंजाब को हुलारा देने के लिए भी मोहरी रोल अदा कर रही है। मिशन तंदरुस्त पंजाब का नारा अच्छी सेहत अच्छी सोच भी एकेडमी पर सही फब रही है । राज्य सरकार की ओर से चलाई जा रही इस एकेडमी ने बहुत सारे चोटी के खिलाड़ी पैदा किए है जिस के चलते स्टेट तथा राष्ट्रीय स्तर के अलावा करीब 200 खिलाड़ी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खेल चुके है। माहिलपुर की इस फुटबाल एकेडमी में पूरे पंजाब से खिलाडिय़ों को सिखलाई देकर तराशा जा रहा है।

डिप्टी कमिश्नर श्री विपुल उज्जल ने बताया कि नौजवानों को पढ़ाई के साथ साथ खेलों की तरफ भी ध्यान देना चाहिए। उन्होंने बताया कि खेले जहां नौजवानों को नशों जैसी अलामतों से दूर रखती है वही शारीरिक तंदरुस्ती के साथ साथ खिलाडिय़ों के भीतर एक अच्छी सोच भी पैदा करती है। उन्होंने बताया कि बहुत गर्व की बात है कि जिले की फुटबाल एकेडमी की ओर से देश के लिए होनहार खिलाड़ी पैदा किए जा रहे है । एकेडमी ने करीब 200 ऐसे खिलाड़ी भी पैदा किए है जो अंतर राष्ट्रीय स्तर पर खेल चुके है । उन्होंने बताया कि जिले के खेल विभाग की ओर से फुटबाल कोच श्री हरजीत सिंह की अगुवाई में एकेडमी में फुटबाल की कोचिंग दी जा रही है। उन्होंने बताया कि एकेडमी में पूरे राज्य में 3 आयुवर्ग अंडर-14, अंडर-17 तथा अंडर-19 के खिलाडिय़ों को सिखलाई दी जा रही है। सिखलाई के लिए चुने गए खिलाड़ी सरदार बलदेव सिंह सरकारी सीनियर सेकेंडरी स्कूल माहिलपुर में शिक्षा भी हासिल कर रहे है।

श्री विपुल उज्जल ने बताया कि पूरे राज्य में हर साल 60 होनहार खिलाडिय़ों को चुन कर मु त सिखलाई दी जा रही है तथा सिखलाई दौरान मु त होस्टल, मैडीकल, खेल किट्टें सहित अन्य सहुलियतों के अलावा सरकार की ओर से खिलाडिय़ों की खुराक पर करीब 43 लाख रुपये खर्चे जा रहे है । उन्होंने बताया कि हर खिलाड़ी को प्रतिदिन 200 रुपये की पौष्टिक खुराक मुहैय्या करवाई जा रही है। उन्होंने अपील की कि राज्य के नौजवानों को बढिय़ा फुटबालर बनने के लिए सरकार की ओर से चलाई जा रही इस एकेडमी का अधिक से अधिक लाभ लेना चाहिए।

फुटबाल कोच श्री हरजीत सिंह ने बताया कि उच्च दर्जे की एकेडमी होने से खिलाडिय़ों को आरंभिक तौर पर स्टेट लैवल मुकाबलों में ही खिलाया जाता है जब कि अंडर 17 की टीम को चंडीगढ़ में गर्वनर कैंप भी खिलाया जाता है, जिस में एकेडमी में बहुत बढिय़ा प्राप्तियां है। उन्होंने बताया कि एकेडमी के खिलाड़ी आल इंडिया क्लबों में खेल रहे है तथा कई खिलाडिय़ों ने खेल कोटे में से सरकारी नौकरियां भी हासिल की है। उन्होंने बताया कि राज्य, राष्ट्रीय तथा अंतरराष्ट्रीय स्तर तक खिलाड़ी पहुंच रहे है जो देश, पंजाब राज्य तथा जिला होशियारपुर के लिए बहुत मान वाली बात है।

श्री हरजीत सिंह ने बताया कि एकेडमी में सिखलाई प्राप्त करके अमरिंदर सिंह, हरमनजोत सिंह खाबड़ा, बलवंत सिंह, कर्णजीत सिंह परमार, बलजीत साहनी, मुनीश कुमार भार्गव, सुखदेव सिंह, गगनदीप बाली, अमनप्रीत, अनवर अली, ऋृषि राजपूत तथा सौरभ कुमार चौटी के खिलाडिय़ों में शामिल हो गए है। उन्होंने बताया कि वे एकेडमी में पिछले दो सालों से कौचिंग दे रहे है तथा 120 खिलाडिय़ों को ट्रैनिंग दे चुके है जब कि तीसरा बैच चल रहा है। उन्होंने बताया कि हर साल जो 60 बच्चों को ट्रैनिंग दी जाती है वे अलग अलग मुकाबलों में स्टेट की ही नुमायंदगी करते है।

About The Author

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *