Select Page

बुराड़ी में 11 मौतों का जिम्मेदार है यह ‘शख्स’! जल्द हो सकता है खुलासा में 11 मौतों का जिम्मेदार है यह ‘शख्स’! जल्द हो सकता है खुलासा

बुराड़ी में 11 मौतों का जिम्मेदार है यह ‘शख्स’! जल्द हो सकता है खुलासा में 11 मौतों का जिम्मेदार है यह ‘शख्स’! जल्द हो सकता है खुलासा

जनगाथा /नई दिल्ली । दिल्ली के बुराड़ी इलाके में एक ही परिवार के 11 लोगों की मौत की गुत्थी अब तक नहीं सुलझी है। वहीं, पुलिस ने आशंका जताई है कि इन 11 लोगों को खुदकुशी के लिए किसी शख्स ने उकसाया है। अब बताया जा रहा है कि पुलिस इस मामले में एक तांत्रिक को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। सूत्रों के मुताबिक, पुलिस पहले से यह संदेह जता रही थी कि इन 11 लोगों ने किसी तांत्रिक या बाबा के कहने पर ही इतना खौफनाक कदम उठाया होगा। इस तरह के मामलों में किसी तांत्रिक की भूमिका पायी जाती है।

उधर, दिल्ली पुलिस से जुड़े सूत्रों के मुताबिक, इस मामले में कई सनसनीखेज जानकरियां सामने आई हैं। बताया जा रहा है कि जहां 10 लोगों के शव लटके हुए मिले उसके पास ही एक कमरे से पुलिस ने 2 रजिस्टर बरामद किए हैं। दोनों रजिस्टरों में कई पेज भरे हुए हैं तो कुछ खाली हैं। ये पन्ने हाथ से लिखे गए हैं। खुदकुशी और हत्या में उलझी दिल्ली पुलिस को पूरे मामले से पर्दा हटाने के लिए कड़ी मशक्कत करनी पड़ेगी। सोमवार को पुलिस ने बताया कि 11 शवों को पोस्ट मार्टम किया गया, जिसमें खुलासा हुआ है कि छह लोगों की मौत फांसी लगाने से हुई है। जेसीपी क्राइम ब्रांच के मुताबिक, फांसी लगने से इनकी मौत हुई, इनका गला नहीं घोंटा गया था। यह छह लोग भवनेश, प्रतिभा, ध्रुव, शिवम, टीना और ललित हैं। यह भी पता चला है कि नारायण देवी का गला तो घोंटा गया, लेकिन मौत उनकी भी फांसी लगने से ही हुई। अब तक आठ लोगों की फांसी लगने से मौत की पुष्टि हो चुकी है।

इन 11 सवालों के जवाब तलाशने होंगे पुलिस को
1. बुराड़ी के एक घर में ग्रिल से लटके हुए नौ शवों को लेकर सभी के दिमाग में पहला सवाल यही है कि यह कैसे संभव हुआ होगा।

2. आखिर कैसे संभव है कि एक ही परिवार के 11 लोगों ने फांसी लगाकर खुदकशी कर ली। दिल्ली पुलिस की जांच टीम व फोरेंसिक टीम की पूरी जांच इसी गुत्थी को सुलझाने पर टिकी है।

3. फोरेंसिक टीम ने मौके पर शवों का हर एंगिल से न सिर्फ माप लिया, बल्कि फोटोग्राफी भी कराई।

4.टीम ने जांच के दौरान बारीकी से देखा कि एक शव से दूसरे शव के बीच की दूरी कितनी थी?

5. शवों के पैर जमीन से कितने ऊपर थे? हाथों को कैसे बांधा गया था?

6. इतना ही नहीं, अगर घटना खुदकशी की है तो क्या एक साथ नौ लोग इस तरह से खुदकशी कर सकते हैं या नहीं?

7. बरामदे में मिले 10 शवों में से दो के हाथ खुले मिले हैं, जबकि आठ के हाथ बंधे मिले। इस पहलू पर भी टीम जांच कर रही है। इसके भी सवाल तलाशने होंगे कि ऐसा ही क्यों किया गया।

About The Author

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *