Select Page

रयात बाहरा ग्रुप क्वालिटी एजुकेशन और क्वालिटी प्लेसमैंट में विश्वास रखता है – डा. चंद्र मोहन

रयात बाहरा ग्रुप क्वालिटी एजुकेशन और क्वालिटी प्लेसमैंट में विश्वास रखता है – डा. चंद्र मोहन
जनगाथा/होशियारपुर।  रयात बाहरा पिछले 18 वर्षो से शिक्षा के क्षेत्र में अहम भूमिका निभा रहा है । वर्ष 2017-18 सेंशन के दौरान अकादमिक प्राप्तियों और प्लैसमैंट के सबंध में होशियारपुर के कैंपस डायरेक्टर डॉ. चंद्र मोहन ने पत्रकारों बातचीत की ।  डॉ. चंद्र मोहन ने बताया कि रयात बाहरा ग्रुप ने होशियारपुर में 2008 में अपना कैंपस शुरु किया था । इसमें इंजीनियरिंग , फाम्रेसी , बीएड, मैनेजमैंट , नर्सिंग आदि कोर्स शुरु किए थे । इस दौरान प्लेसमैंट के लिए देश-विदेश की बड़ी कंपनियां कैंपस ड्राइव के लिए आई और हमारे छात्रों की प्लेसमैंट की । रयात बाहरा ग्रुप  क्वालिटी एजुकेशन और क्वालिटी प्लेसमैंट में विश्वास रखता है। 
प्लेसमैंट की प्राप्तियों के बारे में बताते हुए डॉ. चंद्र मोहन ने बतायाा कि 2017-18 में इंजीनियरिंग छात्रों के लिए 40 कंपनियां होशियारपुर कैंपस आई । जबकि 183 कंपनियां ग्रुप लेवल पर आई थी जिसने 125 छात्रों को नियुक्त किया । इसमें  19.5 लाख रुपए का वार्षिक पैकेज रहा। मैनेजमैंट में 22 कंपनियों ने कैंपस ड्राइव की जिसमें 73 छात्रों को चुना । सबसे बड़ा 10 लाख रुपए वार्षिक पैकेज रहा । इसके अलावा बीबीए, बीसीए, बीकॉम के छात्रों के लिए 30 कंपनियां ग्रुप लेवल पर आई थी जबकि होशियारपुर कैंपस में 10 कंपनियां आई थी जिन्होनें 24 छात्रों की प्लेसमैंट की । फाम्रेसी में 8 कंपनियां आई जिसमें 24 छात्र चुने गए सबसे अधिक पैकेज 4 लाख रुपए वार्षिक रहा । 
कैंपस डायरेक्टर डॉ. चंद्र मोहन ने कैंपस के वार्षिक नतीजों के बारे में बताया कि लॉ में पंजाब युनिर्वसिटी की टॉप टेन में पांच छात्र हमारे कैंपस के थे इसी तरह मैनेजमैंट में 12 विद्यार्थी पंजाब टेक्रीकल युनिर्वसिटी की मैरिट लिस्ट में शामिल थे । इंजीनियरिंग के 03 छात्र पंजाब टेक्रीकल युनिर्वसिटी की ओवरऑल पुजीशन में और 15 छात्र मैरिट लिस्ट में शामिल थे । 
उन्होनें बताया कि आईएसटीई  (इंडियन सोसायटी फार टेक्नीकल एजुकेशन) ने रयात बाहरा कैंपस के छात्र को बेस्ट स्टूडेंट आफ् यीअर का खिताब दिया इसी तरह बेस्ट टीचर का ईनाम भी होशियारपुर कैंपस के टीचर को मिला । डा. चंद्र मोहन ने बताया कि इस वर्ष दो नए कोर्स आरम्भ करने जा रहे है जिसमें फैशन डिजाइनिंग और बीएससी एग्रीकल्चर शामिल है । 
इसी दौरान इंजीनियरिंग कालेज के प्रिंसीपल डॉ. एचपीएस धामी ने बताया कि इंजीनियरिंग के छात्रों को कंपनियों के लिए तैयार करने के कैंपस में ट्रेनिंग प्रोग्राम करवाए जाते हैं । 

About The Author

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *