Select Page

रयात बाहरा ग्रुप की तरफ से रोजग़ार सबंधी नए प्रशिक्षण कोर्सों की शुरुआत

रयात बाहरा ग्रुप की तरफ से रोजग़ार सबंधी नए प्रशिक्षण कोर्सों की शुरुआत

जनगाथा। ऊना । रयात -बाहरा ग्रुप ऑफ इंंस्टीच्यूटस, जो कि एजुकेशन क्षेत्र में पिछले 18 सालों से सेवा निभा रहा है, ने रोजग़ार मार्किट की माँग को ध्यान में रखते हुए अध्ययन के नए कोर्स शुरू करने का फ़ैसला किया है। इन नए कोर्सं में बेमिसाल रोजग़ार की संभावना और विद्यार्थियों को अलग अलग क्षेत्रों में नौकरियाँ लेने के लिए तैयार करने की योजना बनाई गई है ।

इस सबन्धित मीडिया को संबोधन करते रयात -बाहरा होशियारपुर के कैंपस डायरैक्टर डा. चंद्र मोहन और रयात -बाहरा रोपड़ के कैंपस डायरैक्टर डा. सुरेश सेठ ने कहा कि इस अकादमिक सैशन से शुरू किये गए अध्ययन के नये कोर्सों में बी.वोक. शामिल है, जो कि राष्ट्रीय स्तर पर स बन्धित आई.के.गुजराल पंजाब टैकनिकल यूर्निवसिटी और सकिल सेक्टर कौंसिलों के साथ जुड़े होंगे।

इस मौके डा. चंद्र मोहन ने कहा कि रयात -बाहरा होशियारपुर कैंपस की शुरुयात 2008 में हुई थी जिसमें इंजीनियरिंग , फाम्रेसी , बीएड, नर्सिंग , मैनेजमैंट आदि के कोर्स चल रहे हैं 2018 में फैशन डिजाईनिंग व बीएससी एग्रीकल्चर के दो नए कोर्स आरंभ किए जा रहे हैं , जिसमें असं य रोजग़ार की समर्थ है,,जो कि पासआउट उद्योगपतियों को अपना कारोबार खोलने के लिए भी सहायक सिद्ध हो सकता है। उन्होंने कहा कि रयात -बाहरा ग्रुप के हिमाचल प्रदेश की हदों के पास के कैंपस हैं। उन्होनों कहा कि कुवांलिटी एजुकेशन व कुवांलिटी प्लैसमैंट में विश्वास किया जाता है जिससे छात्रों के केरियर को बेहतर बनाया जा सकता है ।

डा. सुरेश सेठ ने रयात बाहरा रोपड़ कैंपस में नए कोर्सिस की शुरुयात के बारे कहा कि यह कोर्स एयर होस्टेस सिखलाई ,सुंदरता और तंदरुस्ती, लाईफ़ साईंसिज़, हार्डवेयर और नैटर्वकिंग, सैर सपाटा और होसपीटैलिटी, एरोनाटिकल और एविएशन (एयर होस्टेस और केबिन करु) आदि के क्षेत्रों में प्लेसमेंट की गारंटी देता है। यह कोर्स पेशा प्रमुख हैं और स बन्धित स्किल सेक्टर कौंसिल और स बन्धित उद्योग हर साल पूरा कोर्स करने के बाद विद्र्यािथयों की प्लेसमेंट का भरोसा देता है।

डा. सेठ ने इस बात पर ज़ोर दिया कि इन कोर्सों के अलग -अलग स्तर हैं और एक विद्यार्थी हिस्सा ले सकता है और तीन अलग -अलग पड़ावों पर कोर्स को छोड़ सकता है, जो कि डिप्लोमा, एडवांस्ड डिप्लोमा और बैचलर डिग्री के प्रमाणित सर्टीफिकेशन प्राप्त कर रहे हैं। उन्होंने यह भी कहा कि बेरोजग़ार और अनपढ़ के बीच की दूरी को कम करने के लिए स्किल डिवैल्पमैंट सैंटर (पंजाब सकिल डिवैल्पमैंट मिशन के अंतर्गत) नौजवानों को आटोमोबाईल, हैल्थकेयर, कृषि, भोजन, रिटेल, सुंदरता और तंदरुस्ती समेत 12 अलग -अलग क्षेत्रों में प्रशिक्षण दे रहा है,जिनमें वित्तीय सेवाओं और बीमा उद्योग (बैंकिंग), ईलेक्ट्रोनिक्स, आई.टी. और आई.टी.ई.एस., फाम्रेसी और दूरसंचार आदि शामिल हैं।

प्लेसमेंट संबधित रयात -बाहरा ग्रुप की प्रशंसनीय कारगुज़ारी बारे बताते डा. चंद्र मोहन ने कहा कि ग्रुप इंजीनियरिंग, फाम्रेसी, मैनेजमेंट, डिप्लोमा और अन्य डिगरी कोर्स के 23000 से अधिक विद्यार्थियों को देने में सफल रहा है और आने वाले समय में ओर भी विस्तार होगा। प्लेसमेंट दौरान बहु -राष्ट्रीय कंपनियां की तरफ से मौजूदा बैंच के चुने गए विद्यार्थियों को सब से अधिक और सब से कम पैकेज 10 से 3 लाख रुपए तक के हैं।

रयात -बाहरा समूह के दो सीनियर आधिकारियों ने यह भी ऐलान किया कि रोपड़ और होशियारपुर कैंपस दोनों में एक नया कोर्स, बीएससी (कृषि) भी शुरू किया गया है,जो कि रोजग़ार की संभावना को ध्यान में रखते हुए शुरू किया गया है।

उन्होने उपस्थित पत्रकारों को बताया कि रयात -बाहरा ग्रुप ने न्यू एज प्रोग्रामों की भी शुरुआत की है,जिस में बी.टैक (ऐंडरायड) सीएसई / ईसीई और एमबीए (डिजिटल मार्किटिंग) आदि शामिल हैं।

About The Author

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *