Select Page

रोहन राजदीप टोलवेज देगा 3 लाख 9 हजार रुपए प्रति दिन जुर्माना, समझौते अनुसार नहीं किया काम

रोहन राजदीप टोलवेज देगा 3 लाख 9 हजार रुपए प्रति दिन जुर्माना, समझौते अनुसार नहीं किया काम

राजेन्द्र मैडी । जनगाथा । होशियारपुर। देश के विभिन्न प्रांतों की सरकारों से समझौता करके बड़े स्तर पर सडक़ों का जाल बिछा के टोल पलाजों का माध्यम से उगराही करने वाली कंपनी रोहन राजदीप टोलवेज लि. को पंजाब के जिला होशियारपुर में पीडब्बलूडी द्वारा समझौते की शर्ते न मानने पर भारी झटका देते हुए 1 मार्च से रोजाना 3 लाख 9 हजार रुपए का जुर्माना लगाया जा रहा है जो कि आज तक बढ़ कर 68 लाख रुपए हो चुका है । गौरतलव है कि आरटीआइ एवेयरनैस फोर्म पंजाब के चेयरमैन राजीव विशिष्ट द्वारा रोहन एड राजदीप कंपनी द्वारा बलाचौर से दसूहा तक की सडक़ की आवश्यक मुरंम्मत न करने से लुक न डालने के सबंध में नाराजगी जाहिर करते हुए पीडब्बलयूडी के उच्च अधिकारियों के पास नाराजगी प्रगट की थी जिस के बाद पहते तो विभाग उक्त कंपनी को नोटिस जारी किए गए और बाद में सख्त कार्रवाई करते हुए कार्यकारी इंजीनियर उसारी मंंडल -2 द्वारा कंपनी को एग्रीमैंट के शिडूयल डब्बलयू अनुसार 1 मार्च 2018 से 3 लाख 9 हजार रुपए प्रति दिन लिकूडेटिड डैमेजिस लगाया जा रहा है जो कि आज तक बढ़ कर 68 लाख रुपए पहुंच चुका है ।
कंपनी और विभाग दौरान हुआ था यह समझौता-
राजीव विशिष्ट ने विभाग पर कंपनी बीच हुए समझौते की जानकारी देते हुए बताया कि इस स्टेट हाईवे-24 जिसकी चौड़ाई 7 से 10 मीटर तक है , को बनाने सबंधी रोहन एड राजदीप कंपनी का विभाग से एग्रीमैंट 6 दिसंबर 2005 में हुआ था और 28 फरवरी 2007 से उक्त सडक़ पर लगे तीन टोल पलाजे जिन में गांव मजारी ,दूसरा चब्बेवाल नजदीक नंगल शहीदां पर तीसरा गांव मानगढ़ (दसूहा ) में लगाया है ,से उगराही शुरु हो गई थी । यहां बता दें कि वर्ष 2007 में यह सडक़ कुल लागत 123.64 करोड़ रुपए से बनाई गई थी उक्त सडक़ के निर्माण समय विभाग द्वारा 40 फीसदी हिस्सा डाला गया था और शेष हिस्सा रोहन एड राजदीप कंपनी द्वारा अदा किया गया था । जिसके तहत रोहन एड राजदीप कंपनी ने 74.19 करोड़ खर्च किए और विभाग ने 49.40 करोड़ की राशि खर्च की पर दोबारा समय समय पर होने वाली मैंटीनैस पर होने वाले खर्च कंपनी को अपनी तरफ से ही करना था और जिसके बदले कंपनी द्वारा लगाए गए टोल पलाजों के जरीए 15 फरवरी 2023 तक राहगीरों से उगराही की जानी है ।

राजीव विशिष्ट ने जानकारी देते हुए बताया कि सडक़ बनाने वाली कंपनी रोहन एड राजदीप द्वारा विभाग से जो समझौता किया गयाथा की शर्त अनुसार सडक़ बनने के उपरांत हर 5 वर्ष बाद कंपनी द्वारा सड़ की रुटीन मैंटीनैस दौरान प्रीमिक्स(लुक) डालने का काम करना था पर 67वें वर्ष तक काम पूरा करना था और यह काम कंपनी के लिए यह बड़े खर्च वाला काम है । 2013 में इस सडक़ के ऊपर 40एमएमबीसी (लुक ) डालने का काम लगभग 90 किलोमीटर में अक्तूबर माह तक समाप्त कर लिया गया था् और शेष रहता 14 किलोमीटर ऊपर बीसी (लुक) डालने का काम अप्रैल 2015 में खत्म किया गया था । यह काम रोहन राजदीप कंपनी ने 35 करोड़ रुपए खर्च करके पूरा करवाया था समझौते अनुसार अब 2018 में दोबारा लुक डालने का काम किया जाना था जोकि लटक रहा था राजीव विशिष्ट ने विभाग द्वारा खासकर कार्यकारी इंजीनियर उसारी मंडल -2 की इस कार्रवाई पर संतुष्टी प्रगट करते हुए कहा कि अगर विभाग कंपनी से यह जुर्माना वसूल कर लेता है तो बाकी अन्य कंपनियों केे लिए यह नजीर पेश होगी ।

About The Author

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *