Select Page

पुलिसकर्मी द्वारा सतायी महिला ने की इंसाफ की मांग , पुलिसकर्मी ने आरोपों को नाकारा

पुलिसकर्मी द्वारा सतायी महिला ने की इंसाफ की मांग , पुलिसकर्मी ने आरोपों को नाकारा

नीलकमल परमार । जनगाथा । होशियारपुर । हिमाचल प्रदेश के जिला ऊना की तहसील अम्ब के तहत पड़ते गांव अंदौरा की एक महिला ने पंजाब पुलिस के एक मुलाजिम पर धोखे से धर्म परिवर्तन करने, शारीरिक शोषण करने तथा रुपये पैसे, गाड़ी हड़पने और अश्लील वीडियो बनाकर ब्लैकमेल करने का आरोप लगाते हुए इंसाफ की गुहार लगाई है तथा उसने मांग की है कि उसे न तो पैसा वापस चाहिए और न ही गाडिय़ां, वह अपनी खोई हुई इज्जत वापस पाना चाहती है। आज 17 जनवरी को प्रैस क्लब होशियारपुर में आयोजित पत्रकारवार्ता में पीडि़ता ने बताया कि वह शादीशुदा है और 2007 में उसके पति का निधन हो गया था। उसके तीन बच्चे हैं जिनमें दो बेटियां एवं एक बेटा है। दो बेटियां कैनेडा में हैं और बेटा दसवीं कक्षा में पढ़ता है। उसने बताया कि परिवार के पालन पोषण के लिए प्राइवेट टैक्सी का कारोबार शुरु किया था। पीडि़ता ने बताया कि करीब 8-9 साल पहले उसकी एक गाड़ी जोकि ड्राइवर चलाता था का किसी अन्य ड्राइवर के साथ गढ़शंकर इलाके में झगड़ा हो गया था और उस दौरान ड्राइवर और गाड़ी को थाना गढ़शंकर में लाया गया था। इस बात का पता चलने पर जब वह वहां पहुंची तो थाने में तैनात मुंशी गुलशन मोहम्मद औपचारिकताएं पूरी होने के बावजूद गाड़ी देने में आनाकानी करने लगा और उसी दौरान उसने उसे अपनी बातों में फंसा लिया, क्योंकि गाड़ी छुड़वाने के चक्कर में मुंशी उसे करीब एक सप्ताह तक भटकाता रहा था। पीडि़ता ने कथित तौर पर आरोप लगाया गया कि इसके बाद गुलशन ने उसे बहला फुसला कर अपनी करीब कर लिया और वह कहने लगा कि उसकी पत्नी की मृत्यु हो चुकी है व उसे एक बेटे की चाहत है। इसके बाद 2010 में गुलशन उसे जालंधर के नकोदर में अपने मासी के लडक़े के घर ले गया और वहां पर उसने उसके साथ निकाह कर लिया। उस समय उसे पता चला कि गुलशन मुस्लिम है। इतना ही नहीं इसके बाद गुलशन ने उसके बेटे को भी अडाप्ट किया व उसका नाम अनमोल ठाकुर से अनमोल मोहम्मद करवा दिया। उसने बताया कि गुलशन की जहां भी पोस्टिंग होती वह उसके साथ ही रहती। पूर्ण विश्वास हासिल हो जाने पर गुलशन ने उससे 20 लाख रुपये की मांग यह कहते हुए की कि उसे घर खरीदना है। इस पर उसने अपने माता-पिता की जमीन बेच कर उसे 20 लाख रुपये दे दिए, मगर आजतक उसने रुपये कहां खर्च किए इसकी जानकारी नहीं दी। इसके अलावा उसका जितना भी सामान था जैसे गाड़ी, स्कूटी, सोने के आभूषण, स्कूटर, टाटा सूमो आदि भी गुलशन ने हड़प कर लिए तथा हिमाचल से कई अस्टाम मंगवाकर उसने उस पर उसके हस्ताक्षर ले लिए। महिला ने आरोप लगाया कि उक्त पुलिस मुलाजिम ने उसकी बेटी से जोकि कैनेडा में है से 1 लाख 25 हजार रुपये अपने अकाउंट में ट्रांसफर करवा लिए थे तथा बाद में तफ्तीश दौरान उसने 3 लाख 65 हजार रुपये वापस भी किए थे। महिला ने बताया कि इसी दौरान गुलशन ने उसकी अश्लील वीडियो भी बना ली थी तथा जिसे दिखाकर वह उसे ब्लैकमेल करने लगा था। इस संबंधी उसने पुलिस के उच्चाधिकारियों को शिकायत भी की तथा सी.डी. भी सौंपी थी, मगर सी.डी. को गायब कर दिया गया। वह छोटे से लेकर बड़े अधिकारी तक सबसे पास जाकर इंसाफ के लिए माथा रगड़ चुकी है, मगर उसे इंसाफ नहीं मिल रहा। उसने बताया कि पंजाब पुलिस ने कार्रवाई के नाम पर गुलशन के खिलाफ मामला तो दर्ज किया, मगर पुलिस मुलाजिम होने के चलते उस पर कार्रवाई नहीं हो पा रही है।
महिला ने बताया कि एक बार गुलशन उसे बुल्लांबाड़ी स्थित अपने घर लेकर आया था तथा यहां आने पर उसे पता चला कि गुलशन की पत्नी एवं तीन बेटियां हैं। जिसके बारे में पूछने पर उसने झगड़ा शुरु कर दिया और इसके बाद वह उसे काफी मारता-पीटता था। जब उसने अपने रुपये वापस मांगने शुरु किए और हिसाब मांगा तो उसने उसे मारपीट करके घर से निकाल दिया। महिला ने बताया कि बार-बार पंजाब पुलिस के उच्चाधिकारियों से मिलने पर कुछ समय पहले ही गुलशन को सस्पैंड कर दिया गया था, मगर उसके खिलाफ ठोस कार्रवाई न होने के चलते उसे गुलशन से डर बना हुआ है, क्योंकि कुछ समय पहले ही हिमाचल में स्थित उसके घर पर कुछ लोग धमकियां देकर गए थे।
पंजाब में इंसाफ न मिलने पर उसने 12 जनवरी को हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला में मुख्यमंत्री से भेंट की थी तथा 15 जनवरी को शिमला में भी मिल कर आईं थी, जिसके बाद थाना अम्ब पुलिस ने गुलशन के खिलाफ मामला दर्ज किया है। उसने कहा कि पंजाब पुलिस से उसे इंसाफ की उम्मीद नहीं है तथा इसके चलते ही उसने अब हिमाचल के मुख्यमंत्री से हिमाचल की बेटी को इंसाफ दिलाने की गुहाल लगाई है। इस अवसर पर महिला के साथ शाम कुमार गोनी, तरलोचन सिंह, मदन लाल व राज कुमार राजू भी मौजूद थे।
इस संबंध में बात करने पर एस.एस.पी. होशियारपुर जे.इलनचेलियन से बात करने पर उन्होंने कहा कि मामले की जांच उच्चाधिकारियों द्वारा की जा रही है। ऐसे में वह इस मामले में दखल नहीं दे सकते।
दूसरी तरफ डी.एस.पी. अम्ब (हिमाचल प्रदेश) कुलबिंदर सिंह से बात करने पर उन्होंने बताया कि उच्चाधिकारयिों के निर्देश पर थाना अम्ब में गुलशन के खिलाफ 506 के तहत मामला दर्ज करके जांच शुरु कर दी गई है तथा जो भी तथ्य सामने आएंगे उसके हिसाब से आगे की कार्रवाई की जाएगी।

इस सबंधी गुलशन मोहमंद का कहना है कि महिला दोबारा लगाए गए आरोप झूठे व् बेबुनियाद है उसने बताया कि मैंने महिला का बेटा अदालत के जरिए लिया था और अदालत के माध्यम से ही महिला को वापिस कर दिया था जिसे उसने आगे किसी को दे दिया है ।

About The Author

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *