Select Page

जय राम ठाकुर होंगे हिमाचल के नए मुख्यमंत्री

जय राम ठाकुर होंगे हिमाचल के नए मुख्यमंत्री

जनगाथा / शिमला : हिमाचल प्रदेश में नए मुख्यमंत्री को लेकर सस्पेंस आखिरकार खत्म हो गया है। मंडी के सराज विधानसभा क्षेत्र से भाजपा के विधायक जय राम ठाकुर प्रदेश के 13वें मुख्यमंत्री होंगे।

शिमला में बीजेपी विधायक दल की बैठक में मंत्रियों की सहमति के बाद जय राम ठाकुर के नाम पर मोहर लगाई गई। बैठक में प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती, केंद्रीय पर्यवेक्षक के तौर पर केंद्रीय मंत्री निर्मला सीतारमण और नरेन्द्र तोमर व प्रदेश भाजपा प्रभारी मंगल पाण्डेय सहित कई मंत्री बैठक में मौजूद है। दरअसल बीजेपी चाहती थी कि विधायकों में से ही किसी को नेता चुना जाए क्योंकि इससे किसी भी तरह के उपचुनाव का सामना नहीं करना पड़ेगा। जेेपी नड्डा का नाम इसलिए आगे नहीं बढ़ाया गया। सीएम की दौड़ में तीन नेता जेपी नड्डा, पूर्व सीएम प्रेम कुमार धूमल, जय राम ठाकुर का नाम आगे चल रहा था। अब हिमाचल प्रदेश की कमान जय राम ठाकुर के हाथ में होगी।

पार्टी के केंद्रीय पर्यवेक्षक नरेंद्र सिंह तोमर ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि धूमल ने विधानमंडल दल के नेता के रूप में जयराम ठाकुर का नाम प्रस्तावित किया। जसका बाकी विधायकों ने एकसुर में समर्थन किया। उन्होंने कहा कि अब हिमाचल प्रदेश में सरकार बनाने के लिए राज्यपाल से मुलाकात की जाएगी। राज्यपाल के निर्देशानुसार तय क्रार्यक्रम में जयराम ठाकुर हिमाचल प्रदेश के 13वें मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेंगे।

बता दें कि जयराम ठाकुर का जन्म 6 जनवरी 1965 को मंडी जिले के टांडी में हुआ। इनकी पत्नी का नाम डॉ. साधना ठाकुर है। जयराम ठाकुर के पिता कारीगर थे और परिवार बहुत गरीब था। साल 2016 में उनका निधन हुआ। घर में मां, भाभी और पत्नी है। जयराम ठाकुर ने अपना पहला चुनाव 1998 में जीता था। ठाकुर हिमाचल प्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री रह चुके हैं। ठाकुर धूमल सरकार में ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री थे। वहीं मंडी से विधानसभा के लिए चुने गए, पांच बार विधायक रह चुके हैं।

विधानसभा चुनाव से पहले धूमल को भाजपा ने मुख्यमंत्री पद का प्रत्याशी घोषित किया था। लेकिन उनके ही शिष्य रहे कांग्रेस प्रत्याशी राजेंद्र राणा ने धूमल को पराजित कर राजनीतिक गलियारों में खलबली मचा दी। चुंकि राज्य के विधानसभा चुनाव धूमल के चेहरे पर लड़े गए थे, लिहाजा ये बात सामने आई कि नवनिर्वाचित विधायकों का एक खेमा धूमल को सीएम बनाने की पैरवी कर रहा है। कुटलैहड़, पांवटा साहिब और सरकाघाट के विधायक विरेंद्र कंवर, सुखराम चौधरी और इंद्र सिंह धूमल के लिए सीट छोडऩे की पेशकश भी कर चुके हैं। आपको बता दें कि भाजपा ने हिमाचल प्रदेश में 68 में से 44 सीटें जीती हैं।

 

 

About The Author

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

No announcement available or all announcement expired.