Select Page

सतगुरु  के हुक्म के अनुसार की गई सेवा ही जीवन को खुशहाल करती है : महात्मा अनिल सैनी

सतगुरु  के हुक्म के अनुसार की गई सेवा ही जीवन को खुशहाल करती है : महात्मा अनिल सैनी
जनगाथा , होशियारपुर : सतगुरु माता सविंदर हरदेव जी महाराज के नेतृत्व में दिल्ली में हुए 70वें अंतरराष्ट्रीय निरंकारी संत समागम के सफलता पूर्वक संपन्न होने पर संत निरंकारी सत्संग भवन अस्लामाबाद होशियारपुर की ब्रांच ने संचालक महात्मा बाल कृष्ण के नेतृत्व में क्षमा याचना दिवस मनाया। सेवादल ने साल भर की गई सेवाओं में और 70वें अंतरराष्ट्रीय निरंकारी संत समागम के समय जाने-अनजाने में हुई त्रुटियों के लिए सतगुरु  निरंकार प्रभु और साधसंगत के समक्ष माफी मागी और अरदास की कि मानवता की सेवा करते हुए किसी प्रकार की कोई भी त्रुटि न हो। इस मौके पर महात्मा अनिल कुमार सैनी ने कहा कि हर सेवादार अपना तन मन लगा कर सेवा करता है पर ना चाहते हुए भी सेवा के दौरान कोई न कोई कमी रह ही जाती है और उसी कमी की भूल को बख्शवाने के लिए इस दिवस को क्षमा मागते है और सतगुरु  के चरणों में अरदास करते है कि संतों महापुरु षों की सेवा करते हुए जाने अनजाने कभी कोई गल्ती ना हो,उन्होनें कहा कि सेवादार तो सतगुरु  के हुक्म अनुसार ही अपनी सेवा करता है और अपना जीवन सफल बनाता है। उन्होंने कहा कि सतगुरु  के हुक्म के अनुसार की गई सेवा ही असली सेवा है, जो गुरसिख के जीवन को खुशहाल कर देती है। अंत में होशियारपुर ब्रांच की मुखी माता सुभदरा देवी जी ने  सेवादल के लिए सतगुरु  माता संविदर हरदेव जी महाराज से आशीर्वाद की कामना करते हुए कहा कि सारे सेवादल को निरोग और तंदरु स्त रखना, ताकि सारा सेवादल मानवता की सेवा में अपना सहयोग देता रहे। सेवादार भाई बहनों द्वारा क्षमा याचना गीत प्रस्तुत करके सारी संगत से क्षमा याचना की प्रार्थना की। इस मौके पर होशियारपुर ब्रांच की मुखी माता सुभदरा देवी, शिक्षक देविंदर बोहरा, निर्मल दास, बख्शी सिंह, योगराज, विपन कुमार, मनोज कुमार, सुरजीत सिंह, पंकज, अमृत, बहन शशि, मोहनी, सिमरत आदि उपस्थित थे। 

About The Author

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

No announcement available or all announcement expired.